Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद: पहले चरण के नगर निकाय चुनाव के लिए आज से नामांकन शुरू, ये है पूरी शेड्यूल

0 119

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में आज से नगर निकाय को लेकर पहले चरण के चुनाव के लिए नामांकन शुरू हो गया है। दो चरणों में चुनाव संपन्न होंगे । जिसके लिए पहला चरण का मतदान 10 अक्टूबर को होगा तो वहीं दूसरे चरण के लिए 20अक्टूबर को मतदान होगा।

बिहार नेशन

आपको बता दें कि बिहार में 72 नगरपालिकाओं यथा 11 नगर निगमों 26 नगर परिषदों एवं 42 नगर पंचायतों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है और चूँकि राज्य सरकार द्वारा नवगठित / उत्क्रमित / सीमा विस्तारित 152 नगरपालिकाओं , यथा 06 नगर निगमों , 44 नगर परिषदों एवं 95 नगर पंचायतों का गठन करने का निर्णय लिया गया है । क्योंकि वैधानिक प्रावधानों के अधीन उन नगरपालिका के लिए चुनाव कराना आवश्यक है।

नामांकन शुरू

अतः बिहार नगरपालिका अधिनियम , 2007 ( अधिनियम संख्या 11 , 2007 ) की धारा 441 द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए बिहार सरकार , राज्य निर्वाचन आयोग के पत्रांक 3497 दिनांक 31.08.2022 द्वारा किये गये अनुरोध के आलोक में एतद द्वारा निम्नलिखित कार्यक्रम के अनुसार संलग्न अनुसूची -1 एवं अनुसूची -2 में दर्शाये गये जिलों में अवस्थित उस अनुसूची के स्तम्भ 3 में अंकित नगरपालिकाओं के पार्षदों , उप मुख्य पार्षदों एवं मुख्य पार्षदों के निर्वाचन के लिए मतदान हेतु क्रमशः 10 अक्टूबर , 2022 एवं 20 अक्टूबर , 2022 की तिथि नियत करते हैं तथा अपेक्षा करते हैं कि मतदातागण बिहार नगरपालिका अधिनियम , 2007 के उपबंधों के अनुसार पार्षदों , उप मुख्य पार्षदों एवं मुख्य पार्षदों को निर्वाचित करें :

ये है पूरा शेड्यूल पहले चरण का

निर्वाची पदाधिकारी द्वारा प्रपत्र 11 में सूचना प्रकाशन की तिथि-10.09.2022

नामांकन प्राप्त करने की तिथि

10 .9 .22 से 19 .9 .22

संवीक्षा की तिथि

20 .09.2022 से 21 .9 .22

अभ्यर्थिता वापसी की अंतिम तिथि

22 .9 .22 से 24.09.2022 तक

अभ्यर्थिता वापसी के पश्चात् अंतिम रूप से अभियर्थियों की सूचि का प्रकाशन एवं प्रतिक आवंटन

25.09.2022 से 30 .9.22

मतदान की तिथि

10 .10 .22

मतदान का समय

7 बजे पूर्वाह्न से 5 बजे अपराह्न तक

मतगणना की तिथि

12 .10 .22

यह भी जान लें कि बिहार में नगर निकाय के चुनाव भले ही दलीय आधार पर न हो रहे हों, लेकिन इन चुनावों में क्षेत्रीय क्षत्रपों की बड़ी भूमिका से इनकार नहीं किया जा सकता। भाजपा यह मानकर चलती रही है कि पटना समेत अधिकतर शहरी इलाकों में उसका दबदबा रहा है। ऐसे में जब पहली बार प्रत्यक्ष निर्वाचन प्रणाली से मेयर-डिप्टी मेयर के चुनाव हो रहे हैं, महागठबंधन की प्रतिष्ठा भी दांव पर होगी

Leave A Reply

Your email address will not be published.