Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

दोनों बहनें निकली थी राखी बांधने लेकिन पकड़ी गई चार लड़कों के साथ, फिर हट गया रहस्य से पर्दा

0 461

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: रक्षा बंधन का पावन त्योहार भले ही बीत गया हो लेकिन उस दिन की कई घटनाएं अभी भी चर्चा में हैं जिसने समाज को शर्मसार किया है। घटना मुजफ्फरपुर शहर के ब्रह्मपुरा थाना अंतर्गत लक्ष्मी चौक पमरिया टोला मुहल्ला की है। जहाँ एक मकान में चार युवक और दो युवतियां पकड़ी गई थीं। दोनों आपस में सगी बहन हैं।

घर से राखी बांधने के लिए जाने का बहाना कर निकली और यहां कपड़ा गोदाम पहुंच गईं। अब इस मामले में परत-दर-परत रहस्य से पर्दा हटता जा रहा है। ब्रह्मपुरा थाना में अनैतिक देह व्यापार व मद्यनिषेध अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

इसमें औराई थाना क्षेत्र के राजवीर कुमार, राहुल कुमार, रोहित कुमार व अमरनाथ कुमार को आरोपित बनाया गया है। चारों आरोपितों को विशेष कोर्ट में पेश किया गया।

यहां से सभी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। वहीं अड्डे से पकड़ाई दोनों युवतियों को कड़ी चेतावनी देकर पीआर बांड पर छोड़ दिया गया।

पुलिस की पूछताछ में दोनों ने बताया कि वे शहर के ही मिठनपुरा थाना क्षेत्र के एक मोहल्ले की रहने वाली हैं। रक्षाबंधन के दिन यानी शुक्रवार को दोनाें युवतियां घर से राखी बांधने का बहाना करके निकलीं।

वहां से करीब पांच किमी की दूरी तय कर ब्रह्मपुरा थाना क्षेत्र के लक्ष्मी चौक पहुंच गईं। पमरिया टोला के एक कपड़े के गोदाम में वह औराई के चार लड़कों के साथ दाखिल हो गईं। स्थानीय लोगों की इस पर पहले से ही नजर थी।

इनके प्रवेश करते ही लोगों ने वहां धावा बोल दिया और हंगामा शुरू कर दिया। पहले तो संचालक ने लोगों को रोका, किंतु मामला गंभीर होता देख वह पीछे के दरवाजे से भाग गया।

इस बीच किसी ने पुलिस को भी इसकी सूचना दे दी। ब्रह्मपुरा पुलिस मौके पर पहुंची। तब तक लोगों का आक्रोश काफी बढ़ गया था। इसलिए पुलिस ने अतिरिक्त बल मंगाते हुए चारों युवक व दोनों युवतियों को लोगों के बीच से निकालकर थाने ले आए।

यहां आने के बाद पहले पुलिस ने और बाद तके नगर डीएसपी तथा एसएसपी ने खुद पूछताछ की। कपड़ा गोदाम से एक बोतल शराब, दो हजार रुपये और कंडोम मिले थे। पकड़ाए युवक औराई के हैं और ग्राहक थे।

स्थानीय लोगों को कपड़ा कारोबारी के चाल-चलन पर पहले से ही शक था। यहां हर दिन नए युवक-युवतियां नजर आते थे। वे भी कार से आते थे। यह बात लोगों को हजम नहीं हो पा रही थी।

शुक्रवार को जब दो युवतियां के साथ चार लड़के पहुंचे तो लोगों का शक यकीन में बदल गया और देह व्यापार का पर्दाफाश हो गया।

आपको बता दें कि बिहार में देह व्यापार का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी कई बार मुजफ्फरपुर और पटना जैसे राजधानी शहर से छापेमारी कर कई युवक-युवतियों को पकड़ा गया है।  हालांकि पकड़े जाने पर कई सफेदपोशो के भी नाम कई बार आए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.