Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

Exclusive: “बिहार में बहार है पढ़ल लिखल बेकार है, नौकरी के लिए जुगाड़ है”, कब लगेगी प्रश्न पत्र लीक पर रोक

0 201

 

जे.पी.चन्द्रा की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में प्रतियोगी परीक्षाओं के प्रश्न पत्र लिक होना कोई नई बात नहीं है। यहाँ लंबे समय से इसकी शिकायत रही है । हाल के वर्षों में हुए प्रतियोगी  परीक्षाओं की बात करें तो आधे दर्जन से अधिक परीक्षाओं में प्रश्न पत्र लिक हुए हैं । लेकिन इससे भी बड़ा सवाल यह है कि आखिर इस मामले में कड़ी कारवाई क्यों नहीं होती है। साथ ही ठोस नीति आज तक क्यों नहीं बनाई जाती है।

लगातार हो रहे प्रश्न पत्र लीक से हजारों छात्रों का भविष्य अंधकार में है। एक समय नारा दिया गया था कि बिहार में बहार है नीतीश कुमार है। 2 साल बीत जाने के बाद युवाओं को यह नारा बेईमानी लग रहा है। अब वह कह रहे हैं कि बिहार में बहार है पढ़ल लिखल बेकार है, नौकरी के लिए जुगाड़ है।

बिहार के लाखों स्टूडेंट्स हर साल अपने आंखों में सपने लिए राजधानी पटना आते हैं। कई साल मेहनत के बाद जब छात्र परीक्षा में सम्मिलित होते हैं तो उनकी उम्मीदों पर तब पानी फिर जाता है जब उनके सामने पेपर लीक की खबर आती हैं। कमोवेश बिहार के तमाम परीक्षाओं का हाल एक ही जैसा है।

हाल के वर्षों में इन-इन एग्जाम के पेपर हुए लीक

1. बिहार पुलिस भर्ती 2017, 14 मार्च 2021 और 21 मार्च 2021 को पेपर संपन्न हुए लेकिन एग्जाम के पेपर लीक हुए।

2. 27 फरवरी 2022 को आयोजित उत्पाद पुलिस के एग्जाम के पेपर लीक हुए।

3. 28 फरवरी 2022 को फायरमैन की एग्जाम हुई और पेपर लीक की खबर सामने आई।

4. बिहार दारोगा 2017, 2019 और 2022 की परीक्षा के दौरान भी एग्जाम के पेपर लीक की खबर सामने आई।

5. बर्ष 2017 में एसएससी की परीक्षा में गड़बड़ी हुई और पेपर लीक हुआ। एक आईएएस अधिकारी जेल भी गए।

6. बर्ष 2012 में भी एसएससी की परीक्षा के प्रश्नपत्र दो बार लीक हुए।

7. इस बार तो तमाम पिछले रिकॉर्ड टूट गए और राज्य स्तर की सर्वोच्च परीक्षा को भी शिक्षा माफियाओं ने कलंकित कर दिया और बीपीएससी परीक्षा के प्रश्न पत्र को भी लीक कर दिया गया।

किसी भी युवक का नौकरी पाना एक सपना होता है। वह चाहता है कि पढ़ाई कर अपने परिवार को सहारा दे। और घर परिवार चलाए। लेकिन अब नौकरी पाना सपना हो गया है। कमोबेश बिहार में  कोई ऐसी परीक्षा नहीं होती है जिसके प्रश्न पत्र लिक न होते हो। भ्रष्टाचार ने पूरी तरह से सिस्टम को जकड़ रखा है। हजारों छात्रों का भविष्य दांव पर है।

.

Leave A Reply

Your email address will not be published.