Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पंचायत चुनाव: 2021 में 300 से अधिक मुखिया दुबारा नहीं लड़ पाएंगे चुनाव

बिहार में पंचायत चुनाव कराने की तैयारियों में चुनाव आयोग के साथ-साथ प्रशासनिक महकमा भी जोर-शोर से लगा है।

0 497

 

BIHAR NATION : बिहार में पंचायत चुनाव कराने की तैयारियों में चुनाव आयोग के साथ-साथ प्रशासनिक महकमा भी जोर-शोर से लगा है। मार्च से मई के बीच पंचायत चुनाव होने की संभावना है। लेकिन खबर यह है कि चुनाव से पहले ही ये तय हो गया है कि 300 से अधिक मुखिया दुबारा चुनाव नहीं लड़ पाएंगे । इसका कारण ये कि बिहार में नये नगर पंचायत, नगर परिषद व नगर निगम के गठन का होना है। इतना ही नहीं त्रिस्तरीय पंचायतों के 10 हजार से अधिक जनप्रतिनिधियों की छुट्टी तय हो गई है।मुखिया , सरपंच , पंचायत समिति सदस्य , वार्ड सदस्य , वार्ड पंच का क्षेत्र नगर निकायों में समाहित हो जाएगी।

दरअसल, सरकार ने 103 नये नगर पंचायतों के गठन को मंजूरी दी है। इस कारण दो सौ से अधिक पंचायत नगर पंचायत क्षेत्र में बदल जाएंगे। इसी तरह आठ नए नगर परिषद के सृजन के साथ ही 32 नगर पंचायतों को अपग्रेड कर नगर परिषद बना दिया गया है। ऐसे में सीधे तौर पर 60 पंचायत नये नगर परिषद क्षेत्र में चले जाएंगे। इसके अलावा 32 नगर पंचायत को अपग्रेड नगर परिषद बनाने के कारण 40 से अधिक पंचायतें नहीं रहेंगी। यही नहीं, पांच नये नगर निगम बनने के कारण भी 20 से 50 पंचायतों का अस्तित्व नहीं रहेगा । इससे करीब 300 से अधिक मुखिया फिर से चुनाव नहीं लड़ पाएंगे।

वहीं आपको बता दें कि बिहार पंचायत चुनाव, 2021 को लेकर वार्डवार मतदाता सूची 12 जनवरी तक तैयार हो जाएगा। 13 से 18 जनवरी के बीच प्रारूप मतदाता सूची की छपाई (मुद्रण) व 19 को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा।

मालूम हो कि इस बार बिहार पंचायत चुनाव बैलेट पेपर की जगह ईवीएम से होगा। इसके लिये ईवीएम की खरीदारी के लिये चुनाव आयोग की माँग पर पैसे के लिये कैबिनेट की मंजूरी भी मिल गई है।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.