Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पटना: भारत को 2047 तक बनाना था इस्लामिक राष्ट्र, लेकिन पकड़े गये दोनों आतंकी 

0 294

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: राजधानी पटना से बड़ी खबर सामने आ रही है जहाँ दो आतंकी को पटना पुलिस ने फुलवारी शरीफ़ एरिया से गिरफ्तार किया है। ये दोनों आतंकी देश का अमन-चैन मिटाना चाहते थे और दोनों आतंकी ट्रेनिंग देते थे। पुलिस ने दोनों को गुप्त सूचना के आधार पर आईबी से प्राप्त इनपुट के आधार पर गिरफ्तार किया है। दोनों को 11 जुलाई को गिरफ्तार किया गया है। दोनों आतंकियो की पहचान कर ली गई है। इनमें से एक झारखंड पुलिस का रिटायर्ड दरोगा मोहम्मद जलालुद्दीन और दूसरा अतहर परवेज है।

दोनों आतंकियों में से एक अतहर परवेज पटना के गांधी मैदान में हुए बम धमाके के आरोपी मंजर का सगा भाई है। पुलिस ने बताया है कि दोनों संदिग्ध आतंकवादियों के तार पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ इंडिया (SDPI) से जुड़े हैं, पुलिस ने इन दोनों के पास से पीएफआई का झंडा, पंपलेट, बुकलेट और कई संदिग्ध दस्तावेज बरामद किए हैं। इन दस्तावेज़ों में भारत को 2047 तक इस्लामिक मुल्क बनाने का जिक्र किया गया है।

बिहार नेशन

पुलिस ने बताया है कि यह दोनों संदिग्ध आतंकवादी पिछले कुछ समय से पटना के फुलवारी शरीफ इलाके में आतंक की पाठशाला चला रहे थे, पुलिस के मुताबिक अतहर परवेज मार्शल आर्ट और शारीरिक शिक्षा देने के नाम पर मोहम्मद जलालुद्दीन का एनजीओ संचालित कर रहा था। जानकारी के मुताबिक अतहर ने ₹16000 किराए पर मोहम्मद जलालुद्दीन के फुलवारीशरीफ स्थित अहमद पैलेस, नया टोला इलाके में फ्लैट लिया था जहां से वह इस देश विरोधी मुहिम को चला रहा था।

वहीं पकड़े गये आतंकियों से बड़े खुलासे हुए हैं। ये दोनों एक मिशन के तहत कार्य कर रहे थे। इनका उद्देश्य 2047 तक भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाना था। साथ ही ये मुस्लिमों में हिन्दुओं के प्रति नफरत भड़काने का काम कर रहे थे और आतंकी ट्रेनिंग देते थे। ये पीएम नरेंद्र मोदी के बिहार दौरे से 15 दिन पहले आतंकी ट्रेनिंग देना शुरू किये थे। पीएफआई और एसडीपीआई के सक्रिय सदस्यों के साथ बैठकर राष्ट्रीय स्तर से लेकर जिला स्तर तक योजना बनाते थे।अबतक पटना के फुलवारीशरीफ से ही एक और व्यक्ति अरमान मलिक को भी गिरफ्तार किया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.