Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद के चर्चित सुजीत मेहता हत्याकांड में दो आरोपियों को पुलिस ने झारखंड से किया गिरफ्तार

0 228

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार के औरंगाबाद जिले का चर्चित सुजीत मेहता हत्याकांड आपको याद होगा। जब बेखौफ अपराधियों ने उनकी संध्या में वापस लौटते वक्त गोली मारकर हत्या कर दी थी। लेकिन सभी संलिप्त अपराधी नहीं पकड़े गये थे। लेकिन इससे जुड़ी एक बड़ी खबर अब आ रही है। जहाँ पुलिस को बड़ी सफलता मिली है।

दुर्गापूजा

पुलिस ने इस हत्याकांड में संलिप्त दो अन्य आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया है। इन दोनों की पहचान झारखंड प्रदेश के पलामू जिले के पाटन थाना अंतर्गत पाल्हे खूर्द निवासी गोलू शुक्ला उर्फ नीतीश शुक्ला एवं डालटेनगंज थाना अंतर्गत बेलवा टिकर निवासी अर्जून सिंह के रूप में की गई है।

दुर्गापूजा

वहीं दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी झारखंड के रांची के पंडारा थाना अंतर्गत कटहल मोड़ से की गई है। पुलिस ने गिरफ्तारी के दौरान अपराधियों के पास से घटना में प्रयुक्त एक अपाची बाइक भी बरामद किया है। इन दोनों पर आरोप है कि सुजीत मेहता के उपर पांच अगस्त को अंधाधुंध फायरिंग की थी जिसमें सुजीत की मौत हो गई थी। जबकि उस घटना में सुजीत का दोस्त चंदन गंभीर रूप से जख्मी हो गया था।

दुर्गापूजा

वहीं इसके बाद पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्रा के निर्देशानुसार गठित टीम के द्वारा मामले में अब तक तकनीकी अनुसंधान व उपयुक्त साक्ष्यों के आधार पर अंबा थानाध्यक्ष रमेश कुमार सिंह के नेतृत्व में पुलिस बलों के द्वारा दोनों को उस जगह से धर दबोचा गया है।

दुर्गापूजा

बता दें कि सुजीत मेहता की हत्या उस समय की गई थी जब वह 5 अगस्त की शाम अपने दोस्त चंदन के साथ अंबा बाजार से घर लौट रहा था। तभी अज्ञात अपराधियों ने अंबा थाना अंतर्गत बतरे नदी पुल पर दिन दहाड़े अंधाधुंध फायरिंग कर दी थी जिसमें सात गोलियां सुजीत को मारी गई थी। जिसमें दो गोली चंदन को लगा था।

दुर्गापूजा

इस घटना के बाद मौके पर सुजीत की मौत हो गई थी जबकि चंदन को गंभीर अवस्या में पटना रेफर किया गया था। वहीं घटना के बाद सुजीत की पत्नी पूर्व ज़िला पार्षद सुमन कुमारी के बयान पर अंबा थाना में एफआईआर दर्ज की गई थी जिसमें हड़िया गांव निवासी आकाश कुमार सिंह समेत तीन को नामजद आरोपी बनाया गया था। हालांकि उक्त तीनों अब तक पुलिस गिरफ्त से बाहर हैं।

दुर्गापूजा

आपको यह भी बता दें कि इस हाइप्रोफ़ाइल मामले को कई बड़े नेताओं ने उस समय उठाया था। जिसमें पूर्व विधायक शिवपूजन मेहता भी शामिल हैं। अपराधियों की गिरफ्तारी को लेकर धरना-प्रदर्शन किया गया था। जबकि मृतक सुजीत मेहता के समर्थकों ने बिहार और झारखंड में भी कई जगहों पर कैंडल मार्च निकालकर आक्रोश व्यक्त किया था।

दुर्गापूजा

वहीं राज्य के कई बड़े नेता भी मृतक के घर पहुंचे थे। जिनमें प्रमुख रूप से जाप सुप्रीमों पप्पू यादव, पूर्व मंत्री नागमनि , जेडीयू के वरिष्ठ नेता उपेंद्र कुशवाहा समेत कई नेता घर पहुंचकर शोक संतप्त परिवार से मिलकर जांच के लिए पुलिस पर दवाब बनाया था। हालांकि कुछ दिनों बाद ही जिले के पुलिस कप्तान कांतेश मिश्रा ने मामले का उद्भेदन कर दिया था।

दुर्गापूजा
दुर्गापूजा
दुर्गापूजा
Leave A Reply

Your email address will not be published.