Bihar Nation
सबसे पहले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद में अब होगी सभी स्वास्थ्य केंद्रों में गैर संचारी रोग कैंसर, डाइबिटीज, उच्च रक्तचाप आदि की प्रारंभिक जांच

0 113

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार के औरंगाबाद में गैर संचारी रोग से ग्रसित मरीजों की स्क्रींनिंग एवं जांच कार्य में स्वास्थ्य कर्मियों को अब कॉन्टीनुअम ऑफ केअर सहयोग अंतराष्ट्रीय संस्था केयर इंडिया द्वारा प्रदान किया जाएगा. इस विषय से सम्बंधित डिस्ट्रिक्ट लेवल विजनिंग का उदघाटन जिला पदाधिकारी, सौरभ जोरवाल, सिविल सर्जन डॉ.रवि भूषण श्रीवास्तव, एसीएमओ डॉ. किशोर कुमार, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. मिथलेश कुमार सिंह, अपर उपाधीक्षक -सह -संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. रवि रंजन द्वारा संयुक्त रूप से उदघाटन आज समाहरणालय स्थित योजना भवन में किया गया.

बजाज ऑफर

इस कार्यक्रम के उद्घाटन के अवसर पर जिले के सभी प्रखंडों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्य प्रबंधक एवं बीसीएम को कार्यक्रम की जानकारी केयर इंडिया के राज्य कार्यक्रम पदाधिकारी अनुराग श्रीवास्तव एवं डीआरयू टीम लीडर रितेश कुमार द्वारा डी गयी.

विदित हो कि इसके तहत सभी स्वास्थ्य केंद्रों में नियमित गैर संचारी रोगों की जांच होगी. आशा व एएनएम घर-घर जाकर सूचनाएं इकट्ठा करेंगी तथा सभी जानकारी एनसीडी पोर्टल पर दर्ज किया जाएगा. कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के उद्देश्य से केयर इंडिया द्वारा सहयोग किया जा रहा है.

जिला पदाधिकारी श्री सौरभ जोरवाल ने बताया कि कॉन्टिऊम ऑफ केअर के तहत केयर इंडिया, बिहार कतिपय बिन्दुओं पर कार्य करेगी यथा परिवार फ़ोल्डर का निर्माण, सीबीएसी फॉर्म भरना, स्क्रीनिंग, रेफरल और फ़ॉलो – अप , स्वास्थ्य पेशेवरों के लिए सभी स्तरों पर एनसीडी का उपचार और प्रबंधन, क्षमता निर्माण में डिजिटल टूल्स आदि में हैंडहोल्डिंग सपोर्ट आदि.

सिविल सर्जन ने बताया कि सभी स्वास्थ्य केंद्रों में नियमित होगी गैर संचारी रोगों की जांच अब आशा व एएनएम द्वारा प्राथमिक स्तर पर गैर संचारी मरीजों की खोज करते हुए उन्हें जरूरी सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इसके लिए सभी स्वास्थ्य कर्मियों और एएनएम को प्रशिक्षण दिया जायेगा । प्रशिक्षण में स्वास्थ्य अधिकारियों को गैर संचारी रोग जिसमें कैंसर, डाइबिटीज, उच्च रक्तचाप आदि की प्रारंभिक जांच आवश्यकता अनुसार उन्हें बाहर रेफर करने की जानकारी दी जाएगी।

एसीएमओ एवं प्रभारी जिला गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. किशोर कुमार ने कहा कि इस कार्यक्रम मे घर-घर जाकर गैर संचारी रोगों से ग्रसित मरीजों की खोज क्षेत्र की आशाओं द्वारा की जाएगी। इस दौरान आशाओं द्वारा परिवार की सामान्य जानकारी के साथ-साथ समुदाय आधारित मूल्यांकन प्रपत्र (सी-बैक फॉर्म) भरा जाएगा जिसमें परिवार के सदस्यों की स्वास्थ्य सम्बंधित जानकारी इकट्ठा की जायेगी. सी- बैक फॉर्म के आधार पर चिह्नित मरीजों का एएनएम द्वारा स्क्रीनिंग की जाएगी. स्क्रीनिंग में सम्भावित रोग से ग्रसित पाए गए मरीजों को बेहतर चिकित्सा व्यवस्था उपलब्ध कराई जाएगी. आशाओं द्वारा क्षेत्र के सामान्य लोगों की स्वास्थ्य संबंधी सभी जानकारी सी- बैक फार्म में दर्ज कर एएनएम को दी जाएगी. एएनएम उक्त जांच की सूचना को एनसीडी पोर्टल पर दर्ज करेंगी ।

गैर संचारी रोगों की जांच में शामिल आशा व एएनएम को अतिरिक्त राशि दी जाएगी। डॉ. किशोर कुमार ने बताया कि आशाओं द्वारा लोगों का सी-बैक फॉर्म भरने के बाद चिह्नित व्यक्तियों को सामान्य स्क्रीनिंग होने पर 10 रुपये प्रति व्यक्ति दी जाएगी। एएनएम को स्क्रीनिंग के बाद व्यक्ति की जानकारी एनसीडी पोर्टल पर दर्ज करने पर 5 रुपये प्रति फॉर्म दिया जाएगा।

इस कार्यक्रम में सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ सुनील कुमार ,अनुमंडल अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ राजेश कुमार ,जिला स्वास्थ्य समिति औरंगाबाद के डी.पी एम अनवर आलम , औरंगाबाद के डॉ ,अरविन्द कुमार सिंह ,डॉ.श्याम कुमार ,डॉ संजय कुमार सिंह ,डॉ मीना राय,डॉ विक्रांत सिंह सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, केयर इंडिया के राज्य कार्येक्रम पदाधिकारी श्री अनुराग श्रीवास्तव , केयर इंडिया के डी .आर यू टी .एल रितेश कुमार, डीपीसी नागेन्द्र केसरी , डीसीएम सतीश आनंद , एपिडेमोलॉजिस्ट उपेन्दर कुमार चोबे , एनसीडी के ओम प्रकाश एवं अस्पताल प्रबंधक हेमंत राजन ,चन्दन सिंह, औरंगाबाद के सभी प्रबंधक विकाश कुमार ,ललन कुमार प्रजापित ,मनीष कुमार ,दीपक कुमार ,रवि रंजन ,आयुषी कुमारी ,नेहा कुमारी सिन्हा ,संतोष कुमार स्वास्थ्य प्रबंधक भी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.