Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

AURANAGAB: मुखिया का चुनाव हारते ही दबंगों ने दलितों को जूतों से पीटते हुए उठक-बैठक कराकर चटवाया थूक

0 816

 

जे. पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में सुशासन की सरकार है । लेकिन कितनी सुशासन है वह किसी से छुपी नहीं है। आपराधिक घटनाएं प्रतिदिन घट रही हैं । प्रशासन का भय केवल आम जनता में है दबंगों और माफियाओं में नहीं । वे अभी भी दलितों पर अपने फैसले थोपना नहीं छोड़ते हैं । इतना ही नहीं जब उनकी बात वह नहीं मानता है तो वे उसके साथ हैवानियत की सारी हदें भी पार कर देते हैं ।कुछ ऐसा ही मामला औरंगाबाद जिले के कुटुंबा प्रखंड का है। जहाँ का एक विडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वायरल विडियो में यह साफ़ देखा जा सकता है कि दबंग दलित की बस्ती में जाकर थूक चटवा रहा है और फिर जूता से पिटाई करते हुए  कान पकड़ कर उठक-बैठक करवा रहा है।

पंचायत चुनाव

दरअसल पंचायत चुनाव में ये दबंग मुखिया पद का चुनाव लड़ा था लेकिन इलेक्शन हार गया। अब इस वाकये का पूरा वीडियो वायरल है। वीडियो में दबंग मुखिया प्रत्याशी कह रहा है कि दलितों ने शराब पीकर भी वोट नहीं दिया।

वहीं इस विडियो के बारे में स्थानीय लोग बता रहे हैं कि ये वीडियो कुटुंबा प्रखंड के डुमरी पंचायत के खरांटी टोला भूइंया बिगहा गांव का है। ये दलितों का टोला है। दलितों के साथ हैवानियत कर रहे व्यक्ति की भी पहचान हुई है। वह बलवंत कुमार सिंह नाम का व्यक्ति है जो डुमरी पंचायत से मुखिया पद के लिए चुनाव में खडा हुआ था लेकिन चुनाव हार गया।

क्राइम

वायरल वीडियो में साफ दिख रहा है कि बलवंत सिंह दलितों को जूतों से मार रहा है और उनसे उठक बैठक करा रहा है। . उससे भी मन नहीं भरा तो वह व्यक्ति को पीटते हुए उससे जमीन पर थूक चटवा रहा है। इस वायरल वीडियो में आवाज भी आ रही है। उसमें ये सुना जा सकता है कि पैसा लेकर वोट नहीं देने के कारण वह लोगों को ये सजा दे रहा है।मुखिया चुनाव हार गया प्रत्याशी उस वीडियो में ये कह रहा है कि लोगों ने शराब पीकर भी उसे वोट नहीं दिया। हालांकि वीडियो में दिख रहा वोटर ये कह रहा है कि उसने शराब नहीं पी थी। वीडियो में साफ दिख रहा है कि मुखिया प्रत्याशी किस स्तर की हैवानियत पर उतरा है और उसे कानून का कितना डर है।

पंचायत चुनाव

सरेआम दलितों के साथ हैवानियत और दबंगई का वीभत्स वीडियो वायरल है।. जब लाखों लोगों ने इस वीडियो को देखा तो अंबा थाना पुलिस की नींद टूटी। अंबा थाना पुलिस कह रही है कि वह गांव में जाकर विडियो की सत्यता की जांच कर रही है।

हालांकि पुलिस नंगा नाच करने वाले बलवंत सिंह को ढूंढ़ नहीं पायी है। अंबा थाना के थानेदार नरेंद्र कुमार ने मीडिया को बताया कि पुलिस टीम को गांव में भेजा गया है। पुलिस ये पता करने की कोशिश कर रही है कि वीडियो सही है या नहीं। अगर वीडियो में सत्यता पाई गया और बलवंत सिंह की संलिप्तता सामने आयी तो FIR दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

खैर इस विडियो को देखकर वहाँ के लोगों का कहना है कि वह विडियो उसी पंचायत का है। साथ ही यह भी लोगों का कहना है कि वे उनलोगों को भी पहचान रहे हैं । अब यह देखने वाली बात होगी कि प्रशासन कितनी कारवाई इस मामले में करती है या फिर लीपापोती कर के रह जाएगी ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.