Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बड़ी खबर:शिक्षा मंत्री की बड़ी कारवाई,शिक्षक नियोजन की 400 इकाइयों की नियुक्ति प्रक्रिया रद्द

अब सभी रद्द किये गये नियोजन इकाइयों में नए तरीके से प्रक्रिया शुरू की जाएगी. साथ ही दोषियों पर कड़ी कारवाई की बात भी शिक्षा मंत्री ने कही है.

0 313

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में बड़े पैमाने पर शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया चल रही है. लगभग 94 हजार पदों पर शिक्षकों को नियुक्त करना है.लेकिन कई जगह से जो काउंसलिंग प्रक्रिया चल रही है उसमें गड़बड़ी की खबर सामने आ रही है. मतलब साफ़ है कि जहाँ यह प्रक्रिया चल रही है वहाँ पारदर्शिता की कमी है. इस बारे में शिक्षा मंत्री विजय चौधरी के पास शिकायतें आ रही थीं . अब मंत्री विजय कुमार चौधरी ने इस पर कड़ा एक्शन लेते हुए 400 नियोजन इकाइयों में शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया रद्द कर दी है. कई जगह से हंगामें के वीडियो फूटेज भी खंगाले गये तब जाकर ये सभी रद्द किये गये.

अब सभी रद्द किये गये नियोजन इकाइयों में नए तरीके से प्रक्रिया शुरू की जाएगी. साथ ही दोषियों पर कड़ी कारवाई की बात भी शिक्षा मंत्री ने कही है. उन्होंने सभी दोषियों पर प्राथमिकी दर्ज करने के आदेश देते हुए कहा कि गड़बड़ी करने वाले पंचायत के प्रतिनिधि हों, पदाधिकारी हों या खुद अभ्यर्थी किसी को बख्शा नहीं जाएगा. उन्होंने कहा कि सबसे अधिक शिकायते ग्राम पंचायत की नियोजन इकाई से मिली है. इसमें मुजफ्फरपुर, शिवहर,दरभंगा, बक्सर, समस्तीपुर, मधुबनी समेत अन्‍य जिले शामिल हैं.

आपको बता दें कि बिहार में इस समय कुल 4800 नियोजन इकाइयों में से 4400 में गड़बड़ी की बात सामने सामने नहीं आई है. जिन 400 इकाइयों में गड़बड़ी आई है उसके खिलाफ कड़ी कारवाई की जाएगी. अभी तक स्कूल के शिक्षकों के लिए क्लास 1 से 8 तक की 5 जुलाई से 12 जुलाई तक अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग हुई है. इसमें 17 हजार शिक्षकों का चयन किया गया है. जिसे नियुक्ति पत्र देना है . लेकिन नियोजन की टेढ़ी प्रक्रिया के कारण TET पास अभ्यर्थियों के रहते हुए भी काउंसिलिंग के बाद भी 10229 पद रिक्त रह गए हैं. यहाँ यह भी बात निकलकर सामने आ रही है कि कई अभ्यर्थियों ने एक से अधिक जगहों पर आवेदन कर रखा है . इस कारण से भी सीटें खाली रह गई हैं. हालांकि कहीं एक ही जगह आवेदन मान्य होगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.