Bihar Nation
सबसे पहले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

Breaking News: लालू यादव और उनके परिवार को प्लॉट के बदले नौकरी मामले में मिली जमानत

0 191

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार के राजनीतिक गलियारे से इस वक्त बड़ी खबर आ रही है। दिल्ली की कोर्ट ने जमीन के बदले नौकरी के मामले में राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव उनकी पत्नी राबड़ी देवी समेत 14 अन्य लोगों को बड़ी राहत देते हुए जमानत दे दी है। लालू प्रसाद यादव पर सीबीआई ने आरोप लगाया है कि उन्होंने रेलमंत्री रहने के दौरान जमीन और प्लॉट लेकर नौकरी रेलवे में दी थी।

बजाज ऑफर ।

वहीं आज राउज एवेन्यू कोर्ट में लालू यादव और उनकी पत्नी की पेशी थी, इस दौरान कोर्ट ने सुनवाई करते हुए 50,000 का निजी जमानती मुचलका राशि जमा करने का आदेश देते हुए उन्हें जमानत दे दी।

अदालत ने यह भी कहा कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने गिरफ्तारी के बिना आरोप पत्र दायर किया था। गौरतलब है कि सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में दावा किया था कि भर्ती के लिए भारतीय रेलवे के निर्धारित मानदंडों और प्रक्रियाओं का उल्लंघन करते हुए रेलवे में अनियमित नियुक्तियां की गईं।

सीबीआई ने अपनी चार्जशीट में दावा किया कि जिन उम्मीदवारों को रेलवे में विकल्प के रूप में नौकरी मिली या तो सीधे या अपने परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों के माध्यम से लालू परिवार के सदस्यों को अत्यधिक रियायती दरों पर जमीने बेच दी।

लालू यादव के रेल मंत्री रहते हुए बिहार में जमीन के बदले नौकरी का घोटाल हुआ था। इस मामले में रेलवे में कई उम्मीदवारों की जमीन के बदले भर्ती की गई थी। सीबीआई के अनुसार, लालू यादव ने दिल्ली भूमि और वित्त (डीएलएफ) को कई महत्वपूर्ण परियोजनाएं जारी की थीं, जब वह यूपीए-1 सरकार में रेल मंत्रालय का नेतृत्व कर रहे थे।

सीबीआई ने आरोप लगाया कि नेता ने कई रेलवे परियोजनाओं के बदले डीएलएफ समूह से दक्षिण दिल्ली में करोड़ों की संपत्ति प्राप्त की थी। मुंबई के बांद्रा में भूमि पट्टा परियोजनाएं और नई दिल्ली रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास। लालू, राबड़ी और मीसा सहित 16 आरोपियों के खिलाफ आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार के अपराधों के लिए पिछले साल 10 अक्टूबर को आरोप पत्र दायर किया गया था।

इसके बाद 11 मार्च को प्रवर्तन निदेशालय ने रेलवे के नौकरी के लिए जमीन मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच के सिलसिले में लालू परिवार और करीबियों के घरों में छापेमारी की थी। ईडी ने कहा था कि छापेमारी में उन्होंने 600 करोड़ की अपराध आय को जब्त किया है।

वहीं लालू परिवार को अब कोर्ट से जमानत मिलने के बाद बिहार की सियासत एकबार फिर से गर्माएगी यह तय है। जहाँ इस फैसले से राजद को बीजेपी पर निशाना साधने का मौका मिल गया है तो वहीं दूसरी तरह बीजेपी भी जवाब की तलाश में जुट गई है। लेकिन इस फैसले से लालू परिवार को फिर से संजीवनी मिल गई है। तेजस्वी और आक्रामक होकर अब विरोधियों पर राजनीतिक हमले करेंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.