Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

तेजस्वी के 32 वें जन्मदिन पर बधाइयों का लगा तांता, पप्पू यादव ने बधाई के साथ इंसान बनने की दी नसीहत

0 186

 

जे.पी.चंन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन:  आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव के छोटे पुत्र और बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव ने आज यानी मंगलवार को दिल्ली में 32 वां जन्मदिन सादे तरीके से मनाया ।

इस शुभ अवसर पर सवेरे से ही पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने शुभकामनाओं का तांता लगा दिया।

वहीं इस मौके पर जन अधिकार पार्टी के सुप्रीमो पप्पू यादव ने तेजस्वी यादव को अलग अंदाज में जन्मदिन की बधाई दी है।

चुनाव चिन्ह

पप्पू यादव ने कहा है कि तेजस्वी यादव को जन्मदिन की बहुत बहुत बहुत-बहुत बधाई हो। लेकिन, वह पहले इंसान बनें।

हाजीपुर सर्किट हाउस में तेजस्वी यादव को जन्मदिन की बधाई देते हुए पप्पू यादव ने कहा कि बड़े बाप का बेटा होने से कुछ नहीं होता है।

केवल कर्म योगियों को ही सफलता मिलती है भाग्य से जीने वाले विजेता नहीं बनते हैं। यही दुनिया का इतिहास है।

चुनाव चिन्ह

पप्पू यादव ने कहा कि तेजस्वी यादव अपने अहंकार क्रोध नफरत का त्याग करें वे स्वयं भी खुश रहें और दूसरों को भी खुश रहने दें।

चुनाव चिन्ह

पप्पू यादव ने यहां तक कह दिया कि तेजस्वी यादव ने हुई यादव में जबरदस्त अज्ञानता भरी हुई है ।

चुनाव चिन्ह

वें जन्मदिन के मौके पर अपनी अज्ञानता को दूर करें और ज्ञान लेने का प्रयास करें। उन्होनें आरोप लगाया कि तेजस्वी यादव में अहंकार भर गया है।

चुनाव चिन्ह

आपको बता दें कि कभी जाप प्रमुख राजेश रंजन उर्फ पप्पु यादव कभी लालू प्रसाद यादव के चहेते नेता थे। राजद में रहते हुए पप्पु यादव लालू परिवार के काफी करीबी थे।

चुनाव चिन्ह

कहा जाता है कि मुख्यमंत्री रहते लालू यादव का उन्हें काफी आशीर्वाद और वरदहस्त हासिल था। बाद में रिश्तों में दरार आ गयी और दोनो कालक्रम से अलग हो ग

Saundik interprizes

शायद इसिलीए पप्पु यादव दावा करते हैं कि वे लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के सदस्यों को अच्छी तरह से पहचानते हैं।

चुनाव चिन्ह

आपको बता दें कि पूर्व डिप्टी सीएम एवं बिहार विधानसभा में प्रतिपक्ष नेता तेजस्वी यादव के आज जन्मदिन के मौके पर बधाइयों का तांता लगा है।

चुनाव चिन्ह

पार्टी के लोगों ने अपने नेता के जन्मदिन पर तेजस्वी से जुड़े होर्डिंग्स, पोस्टर और बैनर प्रदेश कार्यालय और विभिन्न जगहों पर लगाए हैं। राज्य के दूसरे जिलों से भी उन्हें बधाई मिल रही है।

चुनाव चिन्ह

बता दें कि राजद नेता जन्म 9 नवंबर 1989 को बिहार के गोपालगंज में हुआ था।

चुनाव चिन्हउन्होंने बेहद कम समय में न केवल बिहार की राजनीति में अपनी अलग जगह बनाई है बल्कि देश की राजनीति में भी उन्हें भविष्य के रूप में देखा जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.