Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

Fodder Scam: लालू प्रसाद यादव को आज CBI की विशेष कोर्ट सुनाएगी सजा, हो सकती है सात साल की जेल

0 95

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार की सियासत के माहिर खिलाड़ी राजद सुप्रीमों लागू प्रसाद यादव को चारा घोटाला मामले में 15 फरवरी को दोषी करार दिये जाने के बाद आज फैसला आनेवाला है। उन्हें  CBI की स्पेशल कोर्ट ने चारा घोटाले के तहत सीबीआई डोरंडा कोषागार से 139 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में 15 फरवरी को दोषी ठहराया था लेकिन सजा के फैसले को सुरक्षित रखा था।

लालू प्रसाद यादव

ऐसे में लालू यादव की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। क्योंकि जिन धाराओं में उन्हें दोषी पाया गया है उनके तहत न्यूनतम एक वर्ष और अधिकतम सात वर्ष तक की सजा का प्रावधान है। ऐसे में RJD कैंप और लालू प्रसाद यादव के समर्थकों के लिए आज का दिन काफी अहम रहने वाला है। आज CBI की स्पेशल कोर्ट इस मामले में आरोपियों को सजा सुनाएगी।

बता दें कि लालू प्रसाद को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने साजिश रचने सहित भ्रष्टाचार की कई धाराओं में दोषी पाया है। इन धाराओं में न्यूनतम एक वर्ष और अधिकतम सात वर्ष तक की सजा का प्रावधान है। बता दें कि लालू यादव को हिरासत में लिए जाने के बाद बीमारी की वजह से रिम्स में एडमिट करवा दिया गया है।

बता दें कि डोरंडा कोषागार से 3 .13 करोड़ रुपये की अवैध निकासी के मामले में भी लालू को 7 साल की सज़ा सुनाई गई थी। जबकि कुल 99 आरोपी 15 फ़रवरी को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश हुए थे। इनमें से कोर्ट ने 24 को रिहा कर दिया था। वहीं 46 को 3 साल की सज़ा सुनाई गई थी। बाकी आरोपियों की सज़ा का ऐलान सोमवार को होगा।

बता दें कि चारा घोटाले में डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ की निकासी सबसे बड़ा मामला है। आरसी 47ए/96 मामला 1990 से 1995 के बीच का है। सीबीआई ने 1996 में अलग-अलग कोषागारों से गलत ढंग से अलग-अलग राशियों की निकासी को लेकर 53 मुकदमे दर्ज किए थे। ये रुपयों को संदिग्ध रूप से पशुओं और उनके चारे पर खर्च होना बताया गया था।

99 आरोपियों को किया गया था पेश

डोरंडा कोषागार मामले में छह नामजद आरोपी फरार हैं। डोरंडा कोषागार मामले में पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद, पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, डॉ आरके राणा, पीएसी के तत्कालीन अध्यक्ष ध्रुव भगत, तत्कालीन पशुपालन सचिव बेक जूलियस, पशुपालन विभाग के सहायक निदेशक डॉ केएम प्रसाद सहित 99 आरोपी हैं।

गौरतलब हो कि लालू प्रसाद यादव पहले से ही सजायाफ्ता हैं और 15 फरवरी के पहले तक कोर्ट के आदेश पर बेल पर थे। उनका दिल्ली के एम्स में इलाज चल रहा था। हाल ही में रिम्स के डॉक्टरों ने भी अपनी रिपोर्ट में उनकी किडनी पहले से अधिक खराब होने की बात कही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.