Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पूर्व सीएम मांझी का छलका दर्द, कहा-एनडीए में नहीं है डेमोक्रेसी, वे समझते हैं कि मांझी की नहीं है कोई औकात

0 190

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में राजनीतिक तापमान धीरे-धीरे बढ़ने लगा है। एनडीए के अंदर से उसके ही सहयोगी पार्टी ” हम ” ने अब सवाल खड़े करना शुरू कर दिया है। पूर्व सीएम जीतन राम मांझी ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि एनडीए के अंदर डेमोक्रेसी नहीं है। उन्होंने इसका कारण भी बताया कि सीएम नीतीश कुछ सोंचते हैं जबकि बीजेपी कुछ और सोंचती है।

बिहार नेशन

उनका दर्द भी इस दौरान साफ़ झलका है। उन्होंने कहा कि वे लोग ये समझते है कि जीतनराम मांझी का कोई औकात नहीं है। तो किसी चीज के बारे में जीतनराम मांझी से क्या पूछें। उन्होंने कहा कि अभी तक राज्यसभा सीट का निर्णय नहीं हुआ है। सच में कही न कही संदेह की बात है।

एक सवाल के जवाब में मांझी ने कहा कि आपस में बीजेपी और जेडीयू दोनों को बात करना चाहिए। अभी जो परिस्थिति है,अगर कोई प्रभाव पड़ा तो एनडीय को बहुत ही नुकसान होगा। क्योकि एनडीय को जो माइंडेड मिला है, वो 2025 तक मिला है।2025 तक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार है। इस बार अगर कुछ भी होता है तो बीजेपी और जेडीयू दोनों को नुकसान होगा।

बता दें कि मांझी शुरू से ही अपने बेबाक बयानों के लिए जाने जाते हैं । उन्होंने कई बार एनडीए मे रहते हुए सीएम नीतीश को भी घेरा है। उन्होंने शराब बंदी जो सीएम नीतीश का सबसे ड्रीम प्रोजेक्ट में एक है उसे लेकर भी कई बार सवाल उठाये हैं । तो दूसरी तरफ कई बार ब्राह्मणों को लेकर भी विवादित बयान दे चुके हैं । उन्होंने बीजेपी को भी कई बार घेरा है और कहा कि राम काल्पनिक हैं । वहीं मांझी यह भी चाहते हैं कि राज्य सभा की सीट में उनकी पार्टी को भी एनडीए मौका दे। उन्होंने पत्रकारों से कहा कि आपसी सहमति नहीं होने के कारण बोचहा सीट का क्या परिणाम हुआ आप सभी जानते हैं ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.