Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

विशेष रिपोर्ट: पंचायत चुनाव प्रचार में जुटे प्रत्याशी, औरंगाबाद में प्रखंडवार चुनाव की ये रही तिथियाँ,पढ़ें

0 87

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में पंचायत चुनाव की आधिकारिक घोषणा हो चुकी है। राज्य निर्वाचन आयोग ने लंबे समय से चले आ रहे चुनाव की तिथियां घोषित कर कयासों पर पूर्ण विराम मंगलवार को लगा दिया है। अब चुनाव के तिथियों की घोषणा होते ही क्षेत्रों में रनभेरी बज चुकी है। बिहार में पंचायत चुनाव की अधिसूचना मंगलवार को राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी की गई । प्रत्याशी पंचायत चुनाव के प्रचार की तैयारियों में जुट चुके हैं। प्रत्याशी कई माध्यमों का चुनाव प्रचार के लिये प्रयोग कर रहे हैं । जिसमें सोशल मीडिया भी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

हमीद अख्तर उर्फ सोनू ,मुखिया प्रत्याशी, ग्राम पंचायत मदनपुर

वहीं गांवों में अधिसूचना जारी होने के साथ हलचल बढ़ गई है। सबसे पहले औरंगाबाद सदर प्रखंड में 24 सितंबर को मतदान होगा, जबकि अंत में 8 दिसंबर को देव और कुटुंबा प्रखंड में एक साथ मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

पंचायत चुनाव

राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार 24 सितंबर को प्रथम चरण में औरंगाबाद सदर प्रखंड में मतदान होगा । 29 सितंबर को दूसरे चरण में नबीनगर, 8 अक्टूबर को तीसरे चरण में बारुण प्रखंड, 20 अक्टूबर को चौथे चरण में रफीगंज, 24 अक्टूबर को पांचवें चरण में दाउदनगर, 03 नवंबर को छठे चरण में गोह, 15 नवंबर को सातवां चरण में मदनपुर, 24 नवंबर को आठवां चरण में ओबरा और 29 नवंबर को नौवें चरण में हसपुरा प्रखंड में मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी। 08 दिसंबर को अंतिम दौर 10 वें चरण में देव और कुटुंबा प्रखंड में एक साथ मतदान की प्रक्रिया पूरी की जाएगी।

आपको बता दें की औरंगाबाद जिला में कुल 204 पंचायत हैं और 12 सौ से अधिक पदों के लिए निर्वाचन होना है। 2852 बूथ हैं। कुल छह पदों ले लिए चुनाव होने हैं। चुनाव की तैयारी में अधिकारी लगे हैं। औरंगाबाद प्रखंड में नामांकन की सभी तैयारी पूरी कर ली गई है। प्रखंड कार्यालय परिसर को बांस-बल्ले से बेरिकेटिंग की गई चुनाव

पंचायत चुनाव

आपको बता दें की औरंगाबाद जिला हमेशा से नक्सलियों का गढ़ माना जाता है। इसलिए इस जिले में पंचायत चुनाव कराना अधिकारियों के लिये चुनौती भरा कार्य है। हालांकि अधिकारी लगतार इस क्षेत्र में बैठक कर स्थिति का जायजा ले रहे हैं । गौरतलब हो कि औरंगाबाद जिले के देव,कुटुम्बा सहित कई प्रखंडो के क्षेत्र अतिसंवेदनशील निर्वाचन क्षेत्र के रुप में माने जाते  हैं जहाँ मतदान कराना प्रशासन के लिये चुनौती भरा कार्य होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.