Bihar Nation
सबसे पहले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

आज देव का सूर्यकुंड तालाब जगमगाएगा 5100 दियों से, वहीं नहाय खाय के साथ चैती छठ की शुरूआत

0 144

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: औरंगाबाद जिले का देव सूर्य कुंड आज हजारों दियों की रौशनी से जगमगा जाएगा। शाम में 6 बजे 5100 दीयों के साथ सूर्यकुंड तालाब पर सूर्यसह गंगा आरती होगा। इस दौरान जनता, जनप्रतिनिधि के साथ-साथ जिला प्रशासन के अधिकारी भी शामिल होंगे। इस महाआरती का आयोजन देव सूर्य नारायण सेवा समिति के द्वारा कराया जाएगा।

बजाज ऑफर ।

इस सूर्य सह गंगा आरती की तैयारी के बारें में समिति के सदस्यों मनीष पाठक, नगर अध्यक्ष पिंटू साहिल, अनूप गुप्ता, दिलीप राज, सतनारायण सिंह ने बताया कि इसकी सभी तैयारियां पूरी कर ली गई है। यह भी बता दें कि इस गंगा महाआरती के लिए बक्सर से गंगाजल मंगाया जा रहा है। जबकि काफी संख्या में श्रध्दालुओं के भी पहुंचने की भी उम्मीद है।

गौरतलब हो कि भगवान सूर्य की उपासना के लिए ऐतिहासिक सूर्यकुंड का छठ घाट विख्यात है। इस वर्ष भव्यता के साथ छठ पर्व मनाया जाएगा। गंगा आरती में वाराणसी से ब्राह्मणों को बुलाया गया है। चैत एवं कार्तिक में छठ करने कई राज्यों से लाखों की संख्या में श्रद्धालु यहां पहुंचते हैं। मालूम हो कि कार्तिक छठ में तो छठ व्रतियों और श्रध्दालुओं की इतनी भीड़ रहती है कि तिल रखने की भी जगह नहीं रहती है।

चैती छठ

जबकि चैत्र मास में पड़ने वाले इस महापर्व को चैती छठ पूजा कहा जाता है, जिसकी शुरुआत इस साल 25 मार्च यानी आज से नहाय-खाय के साथ शुरू हो जाएगी। और 28 मार्च को सुबह ऊषा अर्घ्य के साथ इस महापर्व का समापन होगा। चैती छठ पूजा के नहाय-खाय वाले दिन संपूर्ण स्वच्छता का ध्यान रखते हुए गेहूं और चावल को धोकर सुखाया जाता है। इस दिन कद्दू और भात को प्रसाद के रूप में ग्रहण किया जाता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.