Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

RRB Latest Update: रेलवे ग्रुप डी की अब एक ही होगी परीक्षा,3:50 लाख रिजल्ट वन कैंडिडेट-यूनिक रिजल्ट के आधार पर होंगे जारी

0 91

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: एनटीपीसी सीबीटी1 के रिजल्ट को लेकर रेलवे अभ्यर्थियों की मांग बोर्ड ने मान ली है। ये बाते गुरुवार को राज्यसभा सांसद सुशील कुमार मोदी ने गुरुवार को कही। उन्होंने कहा कि रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव से हमारी बात हुई है और उन्होंने आश्वस्त किया है कि वे छात्रों की मांग से सहमत हैं ।

एनटीपीसी आंदोलन

सुशील मोदी ने कहा कि रेल मंत्री ने आश्वस्त किया है  कि ग्रुप डी की दो के बजाय एक ही परीक्षा होगी। नॉन टेक्निकल पॉपुलर कैटेगरी NTPC की परीक्षा के साढ़े तीन लाख अतिरिक्त रिजल्ट वन कैंडिडेट-यूनिक रिजल्ट के आधार पर जारी किए जाएंगे। सांसद सुशील मोदी ने एक के बाद एक कई ट्वीट भी किये हैं।

छात्र आंदोलन

सरकार एनटीपीसी भर्ती के उम्मीदवारों से सहमत है और उनकी मांगों के अनुरूप ही फैसला लिया जाएगा। मोदी ने लाखों अभ्यार्थियों की परेशानी और उनकी मांगों से रेल मंत्री को अवगत कराया। सुशील मोदी ने रेल मंत्री से आग्रह किया कि एनटीपीसी परीक्षा के मामले में वन कैंडीडेट-व रिजल्ट के सिद्धांत पर निर्णय किया जाना चाहिए।

बर्निंग ट्रेन

ट्वीट में क्या लिखा सुशिल मोदी ने

1. रेलवे ग्रुप डी की दो की जगह एक परीक्षा लेगा, एनटीपीसी के परिणाम ‘एक छात्र-यूनिक रिजल्ट’ फार्मूले पर

– रेल मंत्री वैष्णव ने मुझे दिलाया भरोसा

– बिहार में प्रशासन न करे कोई दमनात्मक कार्रवाई

2. रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने आज

मुझे आश्वस्त किया कि ग्रुप-डी की दो की बजाय एक परीक्षा होगी और एनटीपीसी की परीक्षा के 3.5 लाख अतिरिक्त परिणाम “एक छात्र-यूनिक रिजल्ट” के आधार पर घोषित किये जाएंगे।

3. रेलमंत्री ने मुझे भरोसा दिलाया कि सरकार छात्रों से सहमत है और उनकी मांग के अनुरूप ही निर्णय जल्द किया जाएगा।

मैंने लाखों अभ्यर्थियों की परेशानी और उनकी मांगों से रेल मंत्री वैष्णव को विस्तार से अवगत कराया।

4. मैंने रेल मंत्री से आग्रह किया कि एनटीपीसी के मामले में “वन कैंडीडेट-वन रिजल्ट” के सिद्धांत पर निर्णय किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि रेलवे बोर्ड ने यदि फैसला अचानक लेने से परहेज किया होता और समय रहते छात्रों के भ्रम दूर किये होते,तो बिहार में ऐसी अप्रिय स्थिति नहीं पैदा होती।

5. मेरी राज्य के पुलिस प्रशासन से अपील है कि छात्रों पर कोई दमनात्मक कार्रवाई न की जाए। छात्र कोई अपराधी नहीं हैं।

छात्रों से अपील है कि संयम बरतें ताकि रेलवे बोर्ड मामले के सभी पहलुओं की जांच पूरी कर परीक्षार्थियों के हित में फैसला कर सके।

आपको बता दें कि बिहार में छात्रों द्वारा रिजल्ट में गड़बड़ी को लेकर उग्र आंदोलन किया जा रहा है। कई ट्रेनों को आग के हवाले भी कर दिया गया । वहीं आज बंदी का भी एलान छात्रों ने कर रखा है। फिलहाल अभी तक बंदी के दौरान कोई अप्रिय घटना की खबर नहीं है। वहीं शिक्षकों पर एफआईआर भी किया गया है जिसे कई सता पक्ष के नेताओं ने वापस करने की मांग की है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.