Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बिहार सरकार ने आखिर क्यों एक DSP को इंस्पेक्टर से भी एक पद नीचे कर दारोगा बना दिया,पढ़ें 

0 236

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट
बिहार नेशन : बिहार में आज उस समय एक बड़ी खबर सामने आई जब एक डीएसपी को दारोगा बना दिया गया । दरअसल दो साल पहले बिहार पुलिस के एक इंस्पेक्टर को प्रोन्नति देकर डीएसपी बनाया गया था ।लेकिन उस डीएसपी को इंस्पेक्टर पद से भी नीचे कर दारोगा बना दिया गया । साथ ही सरकार ने यह भी सवाल किया कि उन्हें प्रमोशन किसने दिया । उसके खिलाफ भी कारवाई की जाए।

बता दें कि मामला त्रिपुरारी प्रसाद नामक पुलिस अधिकारी का है। 2019 में ही उन्हें इंस्पेक्टर से डीएसपी बनाया गया था। लेकिन अब सरकार ने नयी अधिसूचना निकाली है  इसमें उन्हें डीएसपी में प्रमोशन देने का आदेश रद्द कर दिया गया है।सरकार ने उससे पहले उन्हें दरोगा से इंस्पेक्टर में प्रमोशन देने का भी आदेश रद्द कर दिया है। उन्हें वापस दरोगा बनाने का आदेश दिया गया है।इसके साथ ही ये भी निर्देश दिया गया है कि जिसने उन्हें प्रमोशन दिया उसकी पहचान कर उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाये।

दरअसल त्रिपुरारी प्रसाद साल 2006 में बिहार पुलिस की विशेष शाखा में सब इंस्पेक्टर यानि दरोगा हुआ करते थे। तब निगरानी विभाग ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया था। ये मामला अब भी चल रहा है। पुलिस सेवा के नियमों के मुताबिक जिस पदाधिकारी के खिलाफ निगरानी का मामला दर्ज हो उसे प्रमोशन नहीं दिया जा सकता है। लेकिन त्रिपुरारी प्रसाद को पहले सब इंस्पेक्टर से इंस्पेक्टर में प्रमोशन दिया गया। फिर 2019 में उन्हें इंस्पेक्टर से डीएसपी बना दिया गया।

गौरतलब है कि निगरानी विभाग ने बिहार सरकार को पुलिस पदाधिकारियों के खिलाफ चल रहे मामलों पर रिपोर्ट सौंपी थी। रिपोर्ट में ये बात सामने आयी कि त्रिपुरारी प्रसाद के खिलाफ 2006 से ही निगरानी थाने में मुकदमा दर्ज है। लेकिन फिर भी उन्हें दो दफे प्रमोशन दे दिया गया।  गृह विभाग ने इस बाबत पुलिस मुख्यालय से पूछताछ की तो पुलिस मुख्यालय ने उनका प्रमोशन वापस लेने की अनुशंसा कर दी। इसके बाद गृह विभाग ने आऱोपी पुलिस पदाधिकारी से जवाब मांगा। उन्हें अपना जवाब सौंप कर प्रमोशन को सही ठहराया।

लेकिन गृह विभाग ने उनके जवाब को सही नहीं माना। लिहाजा पहले उन्हें डीएसपी के पद पर दिये गये प्रमोशन को रद्द कर इंस्पेक्टर बनाया गया। फिर एक दूसरी अधिसूचना निकाल कर उन्हें दरोगा से इंस्पेक्टर पद पर दिये गये प्रमोशन को भी रद्द कर दिया है। यानि त्रिपुरारी प्रसाद को अब डीएसपी से दरोगा बना दिया गया है।

वहीं आपको बता दें की अब इस मामले में डीजीपी को गृह विभाग ने चिठ्ठी लिखकर कहा है कि त्रिपुरारी प्रसाद को इंस्पेक्टर के पद पर भी दिये गये पुराने प्रमोशन को रद्द किया जाय्। साथ ही यह भी पत्र में कहा गया है कि उसके खिलाफ भी कारवाई की जाय जिन्होंने गलत तरीके से पावर का दूरूपयोग कर  प्रमोशन दिया था ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.