Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद: नहीं रहे मुरली पहाड़ स्थित ठाकुरवाड़ी के बाबा, उनके निधन से मदनपुर प्रखंड क्षेत्र में शोक की लहर

0 227

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: मदनपुर प्रखंड अंतर्गत खिरियावां पंचायत के तेतरिया-कोल्हूआ गांव के पास मुरली पहाड़ स्थित ठाकुरवाड़ी के मुख्य पुजारी संत अभिराम दास की मंगलवार शाम 5 बजे निधन हो गया । वे लगभग 60 वर्षों से ठाकुरवाड़ी में रहकर ईश्वर की सेवा कर रहे थे। उनके असामयिक निधन से तेतरिया , कोल्हूआ, महुलान, खिरियावां, योगङी सहित आसपास के कई गांवों में शोक की लहर है। लोगों का कहना है कि उनके निधन से हमलोगों को एक परिवार की कमी महसूस हो रही है। वे हमेशा लोगों की मदद के लिए तत्पर रहते थे। बता दें कि पुजारी बाबा हमेशा गेरुआ वस्त्र धारण किये रहते थे और उनका मुख्य सवारी घोड़ा था। वे हमेशा एक घोड़ा साथ रखते थे और उसी से यात्रा तय किया करते थे।

उनके निधन की खबर जैसे ही क्षेत्र के लोगों के पास पहुंची हजारों की संख्या में ग्रामीणों की भीड़ उमड़ पड़ी। वहाँ पर सभी की आँखें नम थी। क्योंकि उनका लगाव और प्यार हमेशा लोगों के साथ रहता था। उस रास्ते से गुजरने वाले राहगीरों को अक्सर बाबा की कुटिया में प्यास बुझाने के लिए पानी मिलता था। वहीं उस ठाकुरवाङी के पास एक तालाब भी है। जिसके आसपास बाबा फ़ुल लगाकर रखा करते थे। जिससे वह  जगह काफी हरा-भरा रहता है। अब उनके निधन से वह स्थान विरान सा लग रहा है।

उनके निधन के बारें में ग्रामीणों का कहना है कि किसी ने देखा तो नहीं कि उनकी मौत कैसे हुई है लेकिन अनुमान है कि उनकी मौत घोड़े से गिरकर संभवतः हुई है। बाबा कुछ दिन से बीमार भी थे। साथ ही औरंगाबाद में हीट वेव भी है। उसके बावजूद भी वे उस मुरली पहाड़ के पास रहते थे। संभवतः इन्हीं सब कारणों से उनकी मौत हुई है। बाबा ने आजीवन ब्रह्मचर्य जीवन का पालन किया और शादी नहीं की थी।  बाबा के उपर क्षेत्र के लोगों का अटूट प्रेम और विश्वास रहा ।

बता दें कि बाबा मुख्य रूप से औरंगाबाद जिले के गोह थाना क्षेत्र अंतर्गत पहाड़ीपुर गांव, गोह के निवासी थे। उनके बारे में कहा जाता है कि वे सात-आठ वर्ष की आयु से ही भागकर इस स्थान पर रहने लगे थे।

घटना की जैसे ही जानकारी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि रंजीत यादव को मिली उन्होंने तत्काल जाकर देखा। उनके परिजनों को खबर दी। मुखिया प्रतिनिधि ने कहा कि उनकी मृत्यु क्षेत्र के लिए दुखद घटना है। उनकी मृत्यु से अपूरणीय क्षति हुई है।

पैक्स अध्यक्ष महेंद्र यादव एवं कोल्हूआ निवासी प्रभु यादव ने बताया कि हम सभी उनके लिए भंडारा का भी आयोजन शीघ्र करेंगे । बाबा सभी के दिलों में बसते थे। उनकी यादों नहीं मिटाया जा सकता है। वहीं इस मौके पर हजारों लोग उपस्थित रहे । सभी ने बाबा को नम आंखों से विदाई दी। 

Leave A Reply

Your email address will not be published.