Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद: डीएम सौरभ जोरवाल ने सभी विभागों के पदाधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक, दिये कई निर्देश

0 118

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: आज यानी सोमवार को औरंगाबाद जिला पदाधिकारी द्वारा सभी विभागों के अंतर्गत चल रहे विभिन्न कार्यों की समीक्षा की गई। इस समीक्षा बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दोनों अनुमंडल पदाधिकारी, सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी एवं अन्य प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

बिहार नेशन

सर्वप्रथम जिला पदाधिकारी द्वारा पीएचईडी से अनुपालन प्रतिवेदन मांगा गया। पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता को कहा गया कि जिले के पदाधिकारियों द्वारा बुधवार और बृहस्पतिवार को पंचायतो में जाकर योजनाओं की जांच की जाती है। जो योजनाएं कार्यरत नही है उनकी मरम्मती का अद्यतन प्रतिवेदन दो दिनों में उपलब्ध करवाएं ताकि पीएचईडी सचिव को सूचित किया जा सके। जिला पदाधिकारी द्वारा पंचायत सरकार भवन में कर्मियों की उपस्थिति सुनिश्चित करने हेतु भी सभी पदाधिकारियों को निर्देशित किया गया और कहा गया कि इसकी विस्तृत समीक्षा की जायेगी। रोस्टर बनाकर प्रखण्ड स्तरीय पदाधिकारियों को पंचायत भवन में ही कार्य करवाना है।

शिक्षा विभाग के डीपीओ से कहा गया कि बुधवार और बृहस्पति वार को जिले के पदाधिकारी विद्यालयों का निरीक्षण करते है। बाकी दिन विद्यालय की जांच नही हो पाती है, ऐसे में सोमवार और मंगलवार को शिक्षा विभाग के सभी पदाधिकारी क्षेत्र में निकलेंगे। इसका अलग से आदेश निकलेगा और मॉनिटरिंग की जाएगी। इसके अलावा आईआईटी पटना द्वारा बच्चों की काउंसलिंग की जानी है जिसकी आवश्यक तैयारी करने के लिए कहा गया। कुछ जगह पर तकनीकी कारणों से एमडीएम बंद हुआ था जो इस सप्ताह प्रारंभ हो जायेगा।

कृषि विभाग के पदाधिकारियों द्वारा बताया गया कि आकस्मिक फसल योजना के अंतर्गत बीज वितरण पूर्ण हो चुका है। इस वर्ष ड्रिप सिंचाई में 500 एकड़ का लक्ष्य मिला है तथा पोर्टेबल स्प्रिंकलर में 200 एकड़ का लक्ष्य मिला है, जिस पर कार्य प्रारंभ किया गया है। साथ ही नए जल स्त्रोत के 177 नई संरचनाओं का निर्माण किया जाना है।

जिला पदाधिकारी द्वारा बताया गया कि 30 सितंबर को होने वाले बीपीएससी की परीक्षा में कोई भी लापरवाही बर्दास्त नही की जायेगी। परीक्षा की संवेदनशीलता को देखते हुए इस हेतु नामित दंडाधिकारियो को अत्यंत सतर्क रहने हेतु जिला पदाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया।

राजस्व शाखा एवं अंचलाधिकारी के साथ जमाबंदी के कंप्यूटरीकरण, लंबित नामांतरण, डाटा सेंटर, लंबित परिमार्जन, भू समाधान पोर्टल, नई ईटीएस मापी मशीन इत्यादि पर समीक्षा की गई। जिले को निदेशालय से 15 नई ईटीएस मशीन मिल रही जिनके माध्यम से भूमि की मापी तेजी से की जा सकेगी।

सामाजिक सुरक्षा द्वारा 6 सामाजिक सुरक्षा पेंशन, कबीर अंत्येष्टि अनुदान, राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना, मुख्यमंत्री परिवार लाभ योजना, बिहार शताब्दी कुष्ठ कल्याण योजना, मुख्यमंत्री निशक्तजन विवाह प्रोत्साहन योजना इत्यादि पर समीक्षा की गई। बाल संरक्षण कार्यालय से विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान, बाल स्वराज पोर्टल, मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना, वृहद आश्रय स्थल इत्यादि की प्रगति के बारे में जानकारी ली गई।

सहायक निदेशक सामाजिक सुरक्षा को दिव्यांगजनों को बैटरी चालित ट्राई साइकिल वितरण में प्रगति लाने का निदेश दिया गया। इस हेतु सभी बीडीओ को जांच प्रतिवेदन यथाशीघ्र भेजने के लिए कहा गया।

आईसीडीएस कार्यालय द्वारा बताया गया कि नए आंगनबाड़ी केंद्रों के निर्माण के लिए सूची के साथ सभी अंचलाधिकारी को जमीन चयन के लिए पत्र भेजा गया है। जिला पदाधिकारी द्वारा यथाशीघ्र भूमि चयन का निर्देश दिया गया।

गोपनीय शाखा द्वारा बताया गया कि बीपीएससी परीक्षा की सभी तैयारी पूर्ण हो चुकी है। इस माह 30 तारीख को परीक्षा है जिसके लिए वरीय पदाधिकारियों द्वारा सेंटर का निरीक्षण अभी से किया जाना आवश्यक है। जिला सामान्य शाखा प्रभारी को लंबित पेट्रोल पंप की एनओसी का अद्यतन प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। स्थापना प्रभारी को कलेक्ट्रेट संवर्ग के कर्मियों के रोस्टर एवं बायोमेट्रिक उपस्थित का प्रतिवेदन शीघ्र उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया। जिला सूचना प्रौद्योगिकी पदाधिकारी को कहा गया कि सभी विभागों द्वारा प्रकाशित निविदा को वेबसाइट पर भी समय से अपलोड करें।

डीपीएम जीविका द्वारा सतत जीविकोपार्जन स्कीम के तहत लाभ देने हेतु शराब बिक्री में पकड़े जाने वाले लोगो की सूची एक्साइज सुपरिटेंडेंट से मांगी गई ताकि पात्र लाभुको को सरकार के इस योजना का लाभ दिलाया जा सके। इसके अतिरिक्त जिला पदाधिकारी द्वारा निबंधन कार्यालय में भी जीविका दीदी की रसोई संचालित करने हेतु आवश्यक कार्रवाई करने के लिए कहा गया।

अंचलाधिकारी औरंगाबाद को नए खेल भवन का सीमांकन शीघ्र पूर्ण करने का निदेश दिया गया ताकी कार्य शीघ्र प्रारंभ किया जा सके। सभी अंचलाधिकारियों को नए विद्यालयों के निर्माण के लिए मोहरकर्मा, बड़ी दुगुल, अकौनी, अमझर शरीफ, रावल बिगहा इत्यादि स्थल पर भूमि शीघ्र उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। इन सभी स्थलों पर विद्यालय निर्माण स्वीकृत हुआ है। इसके अतिरिक्त एकलव्य विद्यालय, ईएसआई अस्पताल, भीम राव अंबेडकर विद्यालय, रफीगंज एवं नबीनगर में अग्निशामनालय, बाबू जगजीवन राम छात्रावास, डिस्ट्रिक्ट इमरजेंसी रिस्पॉन्स सेंटर, नए पंचायत सरकार भवन इत्यादि का सीमांकन भी शीघ्र पूर्ण करने के लिए कहा गया ताकि इनका निर्माण प्रारंभ करवाया जा सके।

इसके अतिरिक्त भी विभिन्न बिंदुओ पर विभागों के साथ समीक्षा की गई। इस बैठक में सहायक समाहर्ता शुभम कुमार, उप विकास आयुक्त अभ्येंद्र मोहन सिंह, जिला परिवहन पदाधिकारी बाल मुकुंद प्रसाद, वरीय उप समाहर्ता फतेह फैयाज, वरीय उप समाहर्ता अमित कुमार सिंह, वरीय उप समाहर्ता मनीष कुमार, वरीय उप समाहर्ता आलोक राय, जिला कृषि पदाधिकारी रणवीर सिंह, डीपीएम हेल्थ मनोज कुमार, डीपीओ राजीव रंजन एवं अन्य पदाधिकारियों के साथ साथ वीसी के माध्यम से अनुमंडल तथा प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.