Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद: RJD प्रवक्ता डॉ. रमेश यादव ने कहा-विकलांगो का प्रमाणपत्र समय पर बने, नहीं तो पार्टी करेगी आंदोलन  

0 101

 

बिहार नेशन: बिहार सरकार चाहे लाख दावे कर ले कि राज्य के स्वास्थ्य विभाग में सबकुछ ठीक है। लेकिन लोगों के बुरे हालातों को देखकर तो ऐसा नहीं लगता है। स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियो के लापरवाही और अफसरशाही का आलम यह है कि असहाय, निर्बल और विकलांग भी प्रमाणपत्र के लिए सालों से परेशानियों को झेल रहे हैं। मामला कुछ इसी तरह का औरंगाबाद जिले से है। जहाँ दूर-दूर से शारीरिक रूप से अक्षम और विकलांग अपनी विकलांगता प्रमाण पत्र के लिए दौड़ते रहते हैं फिर भी उनकी समस्या का समाधान नहीं हो पाता है।

जबकि नियमानुसार प्रत्येक माह के 15 और 30 तारीख को चिकित्सकों की टीम द्वारा शारीरिक जांच कर विकलांगता प्रमाण पत्र निर्गत करना है। लेकिन स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों की लापरवाही के कारण शारीरिक रूप से कमजोर लोगों को चक्कर लगाते- लगाते सालों लग जाते हैं। बता दें कि सिविल सर्जन औरंगाबाद के कार्यालय के नीचे प्रमाण पत्र निर्गत करने के लिए जांच होता है। लेकिन चिकित्सा पदाधिकारी की घोर लापरवाही के कारण असहाय और विकलांग लोगों को दूर-दूर से आकर भी परेशानियां झेलनी पड़ती है और फिर वापस लौट जाना पड़ता है।

इस मामले में ” बिहार नेशन” मीडिया से बातचीत में राजद प्रवक्ता डॉक्टर रमेश कुमार यादव ने कहा कि राष्ट्रीय जनता दल मांग करती है कि किसी भी स्थिति में 15 और 30 तारीख को नियमानुसार शिविर लगाकर और जांच कर प्रमाण पत्र निर्गत किया जाए। कमजोर लोगों को बेवजह दौड़ाया नहीं जाए । अगर ऐसा नहीं होता है तो राष्ट्रीय जनता दल मजबूरी में जिले के विकलांगो के लिए सिविल सर्जन कार्यालय पर तालाबंदी करेगी। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विभाग के लापरवाही के कारण जिले में फर्जी अस्पताल चल रहे हैं । उनका भी जांच कर कारवाई की जाए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.