Bihar Nation
सबसे पहले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

सऊदी अरब के मस्जिदों में लाउडस्पीकर पर बैन, जारी हुआ नया गाइडलाइंस

0 142

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: जहाँ एक तरफ भारत के कई राज्यों में मस्जिदों पर लाउडस्पीकर लगाने को लेकर विवाद हो रहा है तो वहीं दूसरी तरफ मुस्लिम बहुल देश सऊदी अरब ने नमाज के दौरान लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर रोक लगा दी है। यह रोक सऊदी अरब ने 22 मार्च से शुरू हो रहे रमजान को लेकर लगाई है।

बजाज ऑफर ।

बता दें कि सऊदी अरब में रमजान का पर्व जल्द ही शुरू होनेवाला है। यह पर्व 22 मार्च से शुरू होगा। लेकिन इस पर्व से पहले सऊदी अरब देश में सख्त कदम उठाने के चलते काफी सुर्खियों में है। दरअसल सऊदी अरब की सरकार ने रमजान को लेकर सऊदी में 22 मार्च से नए गाइडलाइंस को जारी करते हुए इसे लागू करने की घोषणा की है। नए दिशानिर्देशों के मुताबिक सऊदी में मस्जिदों पर लगे लाउडस्पीकर्स पर पूरी तरह के प्रतिबंध रहेगा वहीं नमाज का लाइव प्रसारण नहीं किया जाएगी।

ये है रमजान पर जारी हुए गाइडलाइन

1- रमजान के मौके पर लाउडस्पीकर के इस्तेमाल पर लगी रोक।
2- रमजान के दौरान दावतें देने के लिए चंदा मागने की मनाही।
3- रमजान की दावतें मस्जिद के अंदर नहीं होगी। बल्कि इसका आयोजन बाहरी इलाकों में किया जाएगा। इन दावतों का सुपरविजन इमाम के हाथ में होगा।
4- रमजान के पूरे महीने इमाम मस्जिद में ही मौजूद रहेंगे।
5- इमामों को समय पर नमाज खत्म करनी होगी। ताकि दूसरे लोगों को भी समय मिल सके।
6- बच्चों को मस्जिद में नमाज पढ़ने पर रोक लगाई गई है।
7- रमजान के दौरान खुद को दुनिया से अलग मस्जिद में रखने के लिए लेनी होगी अनुमति।
8- रमजान के दौरान किसी प्रकार के प्रसार पर रोक लगाई गई है।

सऊदी के क्राउन प्रिंस और प्रधानमंत्री मोहम्मद बिन सलमान ने अपने विजन 2030 के तहत रमजान के दौरान इस तरह के बड़े फैसले को लिया है। उनकी कोशिशि सऊदी की तेल पर निर्भरता को कम करने व पर्यटन को बढ़ावा देने की है। ताकि दुनियाभर में सऊदी के ऊपर से ऑयल इकोनॉमी की टैग हट जाए। रमजान के दौरान जारी इस गाइडलाइन को को क्राउन प्रिंस के विजन 2030 से जोड़कर दिखा गया है।

वहीं सऊदी अरब के इस फैसले को कई देशों ने इस्‍लाम के खिलाफ बताया है। सऊदी अरब की सरकार ने ये सख्‍त नियम रमजान के महीने को मनाने के लिए लागू किए हैं। इन नए नियमों के तहत लाउडस्‍पीकर के साथ ही कई चीजों पर सख्‍त पाबंदी का ऐलान किया गया है। ज्‍यादातर मुस्लिम देश पूछ रहे हैं कि आखिर सऊदी को इस्‍लाम का प्रभाव कम करने वाले ये नियम लागू करने की क्‍या दरकरार पैदा हो गई।

Leave A Reply

Your email address will not be published.