Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

Bihar Budget: वित्त मंत्री तार किशोर प्रसाद ने पेश किया वार्षिक बजट, जानिए क्या-क्या है बजट की खास बातें ?

0 153

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: आज  बिहार विधानसभा में राज्य का वार्षिक बजट पेश किया गया । इसे डिप्टी सीएम सह वित्त मंत्री तार किशोर प्रसाद ने पेश किया । इस वार्षिक बजट में कुल 6 सूत्री एजेंडे को प्रमुखता से रखा गया है। सरकार ने इस बारे में तय कर लिया है कि इन्हीं छः क्षेत्रों पर अधिक फोकस किया जाएगा ।

डिप्टी सीएम द्वारा पेश किये गये इस छः सूत्री एजेंडे में स्वास्थ्य, शिक्षा, कृषि में निवेश, कृषि, ग्रामीण शहरी आधारभूत संरचना का विकास और विभिन्न वर्गों के विकास को रखा गया है। छह सूत्री एजेंडे में सबसे पहले स्वास्थ्य को रखा गया है।  स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने के साथ में कोरोनावायरस के दौर और उसके बाद राज्य में टीकाकरण से लेकर अन्य तरह के स्वास्थ्य इंतजामों को लेकर राज्य सरकार ने अपना संकल्प दिखाया है। वित्त मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य सुरक्षा में सुधार के लिए 16,134 करोड़ आवंटित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि बजट का 65 प्रतिशत सामाजिक क्षेत्र में खर्च होगा।

बिहार सरकार के बजट में दूसरे सूत्र के स्थान पर शिक्षा को स्थान दिया गया है। बजट में यह बताया गया कि शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए बजट में प्राथमिकता दी जाएगी। साथ ही शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया जारी रहेगी और स्कूलों को भवन मुहैया जल्द कराया जाएगा।

सरकार की प्राथमिकता सूची में तीसरे स्थान पर उद्योग और निवेश को स्थान दिया गया है। राज्य में उद्योग धंधे का विस्तार हो और निवेशक आकर्षित हो इसके लिए सरकार ने अपना संकल्प दिखाया है। बजट में राज्य में औद्योगिक विकास के लिए हर पहल को लेकर नीति तैयार करने और उसे जमीन पर उतारने का संकल्प तार किशोर प्रसाद की बजट में दिखा।

चौथे सेक्टर के तौर पर कृषि पर फोकस देने का ऐलान किया गया है। कृषि और इससे जुड़े क्षेत्रों के विकास को लेकर सरकार एक बार फिर आगे बढ़ने की तैयारी में है। इसके लिए कृषि रोडमैप के विस्तार को भी मंजूरी दी गई है।

सरकार ने पांचवें सूत्र के तौर पर शहरी और ग्रामीण विकास और उसकी आधारभूत संरचना को विकसित करने का संकल्प दिखाया है। शहर के साथ-साथ गांव का पूरा विकास हो इसके लिए सरकार अपनी विकास योजनाओं को रफ्तार देती रहेगी।

वहीं छठे संकल्प के तौर पर सरकार ने कल्याणकारी योजनाओं को जारी रखने का ऐलान किया है। तार किशोर प्रसाद ने बजट भाषण में छठे सूत्र के तौर पर कल्याणकारी योजनाओं का जिक्र किया। इस दौरान समाज के कमजोर वर्ग के छात्रों के साथ-साथ अन्य तबके को जो कल्याणकारी योजनाओं के तहत मदद मिलती है उसे जारी रखने की बात कही गई है।

आपको बता दें कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए वित्त मंत्री तारकिशोर प्रसाद ने 2 लाख 18 हजार 303 करोड़ रुपये का बजट पेश किया था, जो कि 2020-21 की तुलना में 3 प्रतिशत अधिक था। यह 22-23 में बढ़कर 2 लाख 37 हजार 6 सौ 51 करोड़ 19 लाख रूपया हो गया है।

अगर पिछले वर्षों की तुलना में बजट को देखें तो कुछ इस तरह की बजट में वृद्धि हुई है। देखें आंकड़े :

• वर्ष रुपये (करोड़ में)

• 2017-18- 160065.69

• 2018-19 176990.27

• 2019-20 200501.01

• 2020-21 211761. 49

• 2021-22 218302.70

उन्होंने बजट पेश करते हुए कहा कि सड़क, पुल आदि का निर्माण जारी है। उन्होंने सशक्त महिला सक्षम महिला योजना के तहत इंटर उत्तीर्ण पर अविवाहित महिला को 25 हजार, स्नातक उत्तीर्ण होने पर 50 हजार की मदद की जा रही है इस मद में 2022-23 में 900 करोड़ का प्रावधान किया गया है। इसके अलावा वित्तमंत्री तारकिशोर प्रसाद ने कहा कि हर घर नल का जल के लिए बजट में 1 हज़ार 1.10 करोड़ और वित्तीय वर्ष 2022-23 में क्रेडिट कार्ड योजना के लिए 700 करोड़ आवंटित किए गए हैं। आपको बता दें कि आज राज्य के विधानमंडल सत्र का दूसरा दिन है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.