Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बिहार: शराबबंदी कानून की सफलता के लिए मद्य निषेध विभाग जल्द करने जा रही है बड़े पैमाने पर बहाली

0 386

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में बहुत जल्द ही शराब बंदी कानून को और सख्ती से लागू करने के लिए मद्य निषेध विभाग सिपाहियों की भर्ती करने जा रही है। मद्य निषेध विभाग 365 उत्पाद सिपाहियों की बहाली जल्द करेगा, जिसकी सूची सिपाही भर्ती बोर्ड में दी गई है। फिलहाल पुलिस से 5 अवर निरीक्षक, 23 सहायक अवर निरीक्षक, 19 सिपाही की प्रतिनियुक्ति मद्य निषेध विभाग के द्वारा किया गया है. उत्पाद लिपिक /सहायक अवर निरीक्षक मद्य निषेध /मद्य निषेध सभी सेवानिवृत को संविदा के आधार पर 16 कर्मियों का नियोजन किया गया है। साथ ही मद्य निषेध के हिट में सेवा से निलंबन मुक्त 56 पदाधिकारियों और कर्मियों को जिलों में पदस्थापित किया गया है।

शराब बंदी

जबकि बिहार में शराबबंदी कानून को सख्ती से पालन कराने को लेकर मद्य निषेध विभाग की ओर से कार्रवाई तेज की गयी है। महज एक सप्ताह यानी 11 दिसंबर से 18 दिसंबर तक अवैध शराब के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए मद्य निषेध विभाग ने 3762 छापेमारी और पुलिस विभाग ने 12 हजार 495 छापेमारी की है। इसमें 2765 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं बिहार मद्य निषेध विभाग 365 उत्पाद सिपाहियों की बहाली जल्द करेगा, जिसकी सूची सिपाही भर्ती बोर्ड में दी गई है।

शराब

वहीं एक सप्ताह में मद्य निषेध विभाग की कार्रवाई में लगभग 1 लाख 34 लीटर से ज्यादा अवैध शराब रिकवरी हुई है। दरअसल एक सप्ताह के करवाई में कुल 368 वाहनों को मद्य निषेध कानून उलंघन के तहत जब्त किया गया है।वहीं विभाग ने होम डिलीवरी करने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 43 व्यक्तियों को गिरफ्तारी किया है। मद्य निषेध विभाग के आयुक्त बी कार्तिकेय धनजी ने कहा कि विभागवार कर्मियों के शराब नहीं पीने के सम्बंध में शपथ लेने वालों के जो प्रतिवेदन मीले है, वो 1 लाख 33 हजार 933 मिल है।

शराब

इस मामले में राज्य के मद्य निषेध विभाग के आयुक्त बी कार्तिकेय धनजी का कहना है कि अब थोड़ी स्थिति और बेहतर हुई है। हमलोगों के पास शराब माफियाओं के बारे में 200 से अधिक कॉल प्रतिदिन आ रही है। इस सूचना के आधार पर इसे सफ़ल बनाने में काफी मदद मिल रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.