Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बीजेपी विधायक का आरोप- सीएम नीतीश कुमार चांदी के चिलम से गांजा पीकर विधानसभा आते हैं

0 229

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में जब से सता परिवर्तन हुई है बीजेपी के सुर बद्ल गये हैं । बीजेपी के नेता जो कल त्क सीएम  नीतीश की बड़ाई करते नहीं थकते थे। वही आज उनके लिए कई तरह के अपमानजनक शब्दों का प्रयोग करते दिख रहे हैं।

शायद राजनीति इसी का नाम है। सता पलटी की बोली भी पलटने लगती है। कुछ इसी तरह के बयान कभी सीएम नीतीश कुमार की सहयोगी पार्टी रही बीजेपी की तरफ से आ रहे हैं।

भाजपा नेता और पश्चिम चंपारण के रामनगर से विधायक भागीरथी देवी ने नीतीश कुमार पर “नशेड़ी और गजेड़ी होने का आरोप लगाया है।”

रामनगर प्रखंड मुख्यालय में शनिवार को आयोजित धरना प्रदर्शन के दौरान उन्होंने कहा कि वे गांजा पीकर विधानसभा आते हैं। उनके पास चांदी का चिलम हैं।

इतना ही नहीं उन्होंने यहां तक आरोप लगाया कि नीतीश कुमार “पुरुष होकर भी महिलाओं की तरह हरकतें करते हैं। वे यहां की बात वहां और वहां की बात यहां करने में माहिर हैं।”

पद्मश्री से सम्मानित और लगातार पांचवीं बार विधायक चुनी गईं भागीरथी देवी ने कहा कि नीतीश कुमार जनता में अपना विश्वास खो चुके हैं।

उन्होंने आरोप लगाया कि वह विधानसभा में कार्यवाही के दौरान कई बार बीच में सदन से गायब हो जाते हैं।

इस दरमियान वह अपने कार्यालय में गांजा पीते हैं। उनके हाथ में चिलम और आंख में धुंआ है। वे चांदी का चिलम रखते हैं। इसी से गांजा पीते हैं। धरना-प्रदर्शन में मौजूद कार्यकर्ताओं ने भी नीतीश कुमार के खिलाफ जमकर नारेबाजीकी।

विधायक भागीरथी देवी ने कहा, “उनकर काम है मेहरारू के, जैसे औरत के काम ऐने के बात ऐने फुसकी।  ऊहे काम ऊहे बुद्धि नीतीश कुमार जी के। ऊं क्या बतीहयन।

अरे नीतीश के त आंख में धुंआ, हाथ में चिलम। चिलम पर बात करिउन, चिलम पर चले लन। नीतीश कुमार जी जब तक चीलम ना चढाहईन तब ले ऊं विधानसभा में अंदर ना बैठिएन। उन कर एक-एक हाल हमनी के जान तानी।

नीतीश कुमार क्या हुउन , ऊं तुरंत उठइन भीतर विधानसभा से और अपन लॉबी में जाइहन अपन ऑफिस में।

वहां गांजा मारिहन और फेर आकर बैठिइन। ऊंह त गांजा पीकर बात करेलन नीतीश कुमार जी, उनकर चिलम हाथ में रहे ला।

उनकर चांदी के चिलम है नीतीश कुमार जी के, उनकर हाल हम जानी ले। ऊं कौउना कायदा, कौउना विचार, कौउना करम के है, ऊंह हम जान तानी. नीतीश कुमार जी के कौउनो विश्वास और कौउनो वैल्यू नइखे।”

बिहार में भाजपा को झटका देने के बाद नीतीश कुमार ने जिस तरह राष्ट्रीय जनता दल के साथ गठबंधन करके अपनी सरकार बनाई है, उससे भाजपा नेताओं में गहरा आक्रोश है।

पार्टी के विधायक और अन्य नेता पूरे राज्य में जगह-जगह धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। उनका कहना है कि नीतीश कुमार ने अपना भरोसा खो दिया है।

उनको मौकापरस्त नेता बताया। कहा कि जनता अगले विधानसभा चुनाव में उनको सबक सिखाएगी

आपको बता दें कि औरंगाबाद जिले के मदनपुर प्रखंड में भी बीजेपी के नेताओं ने एकदिवसीय धरना का आयोजन बीते शनिवार को किया था। जहाँ क्षेत्र के सांसद सुशील कुमार सिंह ने सीएम नीतीश को दगाबाज कहा था।

सांसद ने सीएम नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा था कि उन्होंने जनमत का अपमान किया है।

जनादेश का सीधे अपमान कर सीएम नीतीश ने महागठबंधन से हाथ मिलाया और सरकार बनाया है। जनता उन्हें कभी माफ़ नहीं करेगी।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.