Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

डीएम सौरभ जोरवाल ने कहा- भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदा से बचने के लिये जागरूकता ही एकमात्र उपाय है

0 194

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: प्राकृतिक आपदा ऐसी भयावह परिस्थिति है जिससे समय रहते अगर न बचा जाय तो विनाश निश्चित है। प्राकृतिक आपदा में खासकर भूकंप एक ऐसा भयावह मंजर है जिससे बचाव के लिये लोगों के पास जानकारी होना निश्चित है।

चुनाव चिन्ह

इसी से संबंधित बचाव के लिये औरंगाबाद जिले में सोमवार को समाहरणालय परिसर में गृह मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार 09 वीं वाहिनी आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ), बिहटा के द्वारा प्राकृतिक आपदा यथा भूकंप आदि से बचाव के जिला स्तरीय मॉक अभ्यास एवं प्रशिक्षण का आयोजन किया गया।

Saundik interprises

इस अभ्यास में भारत स्काउट गाइड के बच्चों एवं आम जनों के अलावा अधिकारियों ने भी भाग लिया। इस दौरान उन्हें भूकंप से बचाव की जानकारी दी गयी।

चुनाव चिन्ह

इस मौके पर डीएम सौरभ जोरवाल ने प्राकृतिक आपदा यथा भूकंप से बचाव के दिशा में एनडीआरएफ द्वारा आयोजित प्रोग्राम की प्रसंसा की।

चुनाव चिन्ह

उन्होंने कहा कि भूकंप के समय जान-माल की सुरक्षा करते हुए अपने आपको बचाएं, मकानों से बाहर निकलकर खुले स्थानों पर जाएं तथा अपनी दूसरों की भी सहायता करें।

चुनाव चिन्ह

भूकंप का कोई समय नहीं होता। अचानक भूकंप आ सकता है। हम अपनी समझदारी से ज्यादा नुकसान होने से इससे सकते हैं।

चुनाव चिन्ह

उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से आप सभी को भूकंप से बचाव को लेकर मॉक अभ्यास कराया गया, उम्मीद करता हूं की भविष्य में इसे आपदा वक्त आप पालन करेंगे।

चुनाव चिन्ह

इससे संबंधित आगे भी मॉक अभ्यास कराया जाएगा। हमारी कोशिश होगी की आगे आप सभी को पानी में डूबने से बचाव को लिए भी परिक्षण दिया जाए ताकि उस वक्त जान माल की हानि से बचा जा सकें।

चुनाव चिन्ह

इस दौरान डीडीसी आंशुल कुमार, आपदा प्रबंधन विभाग के मणिकांत, स्काउट एवं गाइड के राज्य सचिव श्रीनिवास कुमार सहित कई अन्य उपस्थित थे।

चुनाव चिन्ह

कैसे बरतें भूकंप के वक्त सावधानी : भूकंप महसूस होते ही घर से बाहर निकलकर खुली जगह पर चले जाएं। अगर गली काफी संकरी हो और दोनों ही ओर बहुमंजिला इमारतें बनी हों, तो बाहर निकलने से कोई फायद नहीं होगा।

चुनाव चिन्ह

तब घर में ही सुरक्ष‍ित ठिकाने पर रहें। भूकंप महसूस होते ही टीवी, फ्रिज, जैसे बिजली के सारे उपकरण प्लग से निकाल दें। एक बार बहुत तेज भूकंप आने के बाद कुछ घंटों तक आफ्टर शॉक्स आ सकते हैं।

चुनाव चिन्ह

इनसे बचने का इंतजाम पहले ही कर लें। आफ्टर शॉक्स आने की कोई तय मियाद नहीं होती हैं, इसलिए अफवाहों पर बिल‍कुल ही ध्यान न दें।

चुनाव चिन्ह

अगर घर से बाहर निकलने में काफी वक्त लगने का अनुमान हो, तो कमरे के कोने में या किसी मजबूत फर्नीचर के नीचे छुप जाएं।

चुनाव चिन्ह

सिर के साथ-साथ शरीर के अन्य संवेदनश अंगों को पहले बचाने की कोशिश करें। घर के बाहर निकलकर कभी भी बिजली, टेलीफोन के खंभे या पेड़-पौधों के नीचे न खड़े हों।

चुनाव चिन्ह

जिलाधिकारी ने कहा कि इन सभी सावधानियों को अगर पब्लिक ध्यान में रखे तो भूकंप से होनेवाली अधिक हानियों को कम किया जा सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.