Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

सलैया पंचायत में डी.पी.ओ श्रीमती रचना ने किया निरीक्षण, आंगनबाड़ी और स्कूलों में मिली अनियमितता

0 380

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: औरंगाबाद जिले के मदनपुर प्रखंड के सलैया पंचायत में बुधवार को जिला प्रोग्राम पदाधिकारी श्रीमती रचना ने विभिन्न योजनाओं और सरकार के द्वारा संचालित सरकारी प्रतिष्ठानों का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने पंचायत में आंगनबाड़ी केंद्र सलैया और हारिबिगहा का निरीक्षण किया जिसमें दोनों केंद्र बंद पाये गये। वहीं सलैया में दो आंगनबाड़ी केंद्र हैं जहाँ जांच की गई तो बच्चे बहुत कम पाये गये और बच्चों को नियमित खाना न मिलने की शिकायत की गई। सलैया के उप स्वास्थ्य केंद्र का भी निरीक्षण किया गया जिसमें एक डॉक्टर पाये गये । वहीं आशा अनुपस्थित थी। ग्रामीणों ने बताया कि इस स्वास्थ्य केंद्र पर ऑक्सीजन और बेड उपलब्ध है लेकिन इसकी सुविधा क्षेत्र के लोगों को स्वस्थ्यकर्मी के न होने से नहीं मिलता है जिससे लोगों को परेशानी होती है।

डीपीओ ने सलैया पंचायत सरकार भवन की भी जांच की । जिसमें आरटीपीएस काउंटर न होने से जनता को होनेवाली परेशानियों के बारे में बताया गया । वहाँ आवास सहायक शहजाद हुसैन के योगदान लेने के बाद से कभी न आने की बात भी मुखिया मनोज चौधरी द्वारा बताया गया। लेखापाल ने कार्य करने के लिए सिस्टम के कमी से होनेवाली परेशानियों को भी बताया। इस दौरान टेक्निकल जेई, पीआरएस, पंचायत सचिव, लेखापाल उपस्थित पाये गये।

उन्होंने हारिबिगहा में जनवितरण प्रणाली का भी निरीक्षण किया जिसमें लाभुकों से उन्होंने बात की । लाभुक खड़े थे। डीलर ने बताया कि सर्वर दिक्कत के कारण लाभुकों को अनाज वितरण में दिक्कत आ रही है। पैक्स गोदाम स्थल का भी निरीक्षण किया गया तो वह बंद मिला।

जबकि पंचायत के अररूआ स्कूल का भी निरीक्षण किया गया जिसमें पांच शिक्षकों में चार पाये गये। बच्चों ने चार ही शिक्षकों के आने की बात कही। वहीं जब रजिस्टर जांच की गई तो पहली क्लास में 120 बच्चों का हाजिरी था लेकिन 18 बच्चे उपस्थित पाये गयें । जबकि पांचवी क्लास में 80 बच्चों की हाजिरी में 5 बच्चे पाये गयें। वहीं जब पदाधिकारी ने सीएल रजिस्टर के बारे में शिक्षक सुधीर ठाकुर से पूछा तो उन्होंने इस बारे में कोई अनुभव नहीं होने की बात कही। इसके साथ-साथ नल-जल योजना, मनरेगा योजना, पीएम आवास योजना, नली-गली योजना की भी जांच की गई। इस दौरान पंचायत के मुखिया मनोज चौधरी भी उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.