Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

एक्सक्लूसिव: 36 घंटे निर्जला व्रत के बाद हर छठ व्रती को देवत्व मिलता है

0 105

 

जे.पी.चन्द्रा की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

बिहार नेशन: जय छठी मइया, ऐसे ही साहस देते रहिये… हर साल बरत करें ऐसा माहौल दीजिये..घर परिवार के लोगों का नाखून भी न पिराये..सहाय होइए आदितमल..आप से ही जीवन में उजियार है।

व्रती भगवान भास्कर के अनवरत ध्यान में हैं। आज महापर्व का चौथा दिन है। 36 घंटे के निर्जला व्रत के बाद व्रती देवत्व के आसपास हैं। सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो रहा है।

आज उदीयमान सूर्य को अरग देकर हवन और पारण हुआ। व्रत की पूर्णता छठी मईया पार लगाती हैं। घाट जगमगा रहा है।

घाट गमगमा रहा है। ठेकुआ कसार से। व्रतियों के हवन से। कहते हैं भक्त भगवान को देखने के लिए जितना लालायित रहता है भगवान भी उतना ही लालायित रहते हैं।

चुनाव चिन्ह

यह भक्त और भगवान का अन्योन्याश्रय सम्बन्ध है। यही सृष्टि का नियम है। भगवान भास्कर तो सबको बराबर आशीष देते हैं।

चुनाव चिन्ह

फूल और कांटा सबको। फूल और कांटा बनना आपका हमारा काम है..कल अस्ताचलगामी सूर्य को अरग दिया गया। आज उगते सूरज को।

चुनाव चिन्ह

कहते हैं जो अस्त होता है उसका उदय भी है। धैर्य की बात है। इसी धीरज से महानता मिलती है। महान लोग धैर्य रखते हैं। सम्पन्नता और विपन्नता में एक ही जैसा।

चुनाव चिन्ह

सुरुज देवता सीख दे रहे हैं। धैर्य रहने का। हर समय। देख रहे हैं न लालिमा एक जैसा है। डूबते समय भी उगते समय भी।

चुनाव चिन्ह

बस यही सीख रखना है। सृष्टि क्या नहीं सिखाती। हम भूल जाते हैं। इस बार मत भूलिएगा।

चुनाव चिन्ह

बच्चा लोग आधा नींद में है। एक आंख से ठेकुआ पर ध्यान टिकाए हुए। बड़ बुजुर्ग भी। बस बचवन ठेकुआ देखते समय पकड़ा जाता है।

हमलोग चालाकी से देख के नजर हटा लेते है ।  इंतजार करना होता है। अब हवन पूजा में लगिये। आपके घर व्रत हुआ है तो परसादी बांटिए।

चुनाव चिन्ह

सामर्थ्य भर सबलोग करता है। ऑफिस में ले जाइए। हो सके तो माया मोह बांटिए। ऑफिस के काम में लग जाइये।

चुनाव चिन्ह

बॉस लोग को ठेकुआ बांटिए। धन्यवाद कहना मत भूलिएगा। जिनको छुट्टी न मिला उ बॉस से जाके ठेकुआ मांगिये।

चुनाव चिन्ह

कहिये परसादी त खइबे करेंगे न। आशीर्वाद और परसादी मांगने में कोई संकोच नहीं करना चाहिये।

चुनाव चिन्ह

हम भी चल रहे घाट का आनंद लेने। जय छठी मइया। किरिपा बनाये रखिये।

चुनाव चिन्ह

पारण हो जाये त आप भी कहिये…चाची ठेकुआ दीजिये न..हमरा घर ई बार बरत नहीं हुआ है..

Leave A Reply

Your email address will not be published.