Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

स्नातक एवं स्नातकोत्तर के करीब 3000 छात्रों का भविष्य लगा दांव पर

0 77

जे.पी. चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: औरंगाबाद जिला के छात्रों का भविष्य अब दांव पर लगा है। वे अपने समस्याओं को लेकर चक्कर पर चक्कर काट रहे हैं  लेकिन उनकी कोई सुनने वाला नहीं है। ये दुखद दास्तान है अंगीगीभूत महाविद्यालयों के छात्रों का ।  करीब तीन हजार छात्रों के स्नातक एवं स्नातकोत्तर कोर्स का परिणाम लंबित विश्वविद्यालय में पड़ा हुआ है। छात्र विश्वविद्यालय का चक्कर लगाते- लगाते थक चुके हैं । अब तो छात्रों को महाविद्यालय के प्राचार्य से भी उनकी उदासीनता को देखकर आशा नहीं रही ।

आपको बता दें की इसमें सबसे अधिक छात्र-छात्राएं सच्चिदानंद सिन्हा महाविद्यालय, रामलखन सिंह यादव महाविद्यालय एवं किशोरी सिन्हा महिला महाविद्यालय की है। विश्वविद्यालय में वर्षों से छात्रों का परिणाम लंबित पड़ा हुआ है। <span;>छात्रों को न तो महाविद्यालय में समाधान मिल रहा है और न ही विश्वविद्यालय में। महाविद्यालय में अगर छात्र परिणाम के लिए जा रहे हैं तो बताया जा रहा है कि आवेदन लेकर विश्विवद्यालय जाइए। आवेदन लेकर विश्वविद्यालय छात्र पहुंच रहे हैं परंतु आवेदन लेने के बाद भी परिणाम नहीं बनाया जा रहा है।छात्र आवेदन दे-देकर थक चुके हैं ।

अब इस समस्या के कारण वे कई समस्याओं को झेल रहे हैं । वे न ऊंची शिक्षा ग्रहण कर पा रहे हैं और न कोई स्नातक स्तर का कोई फॉर्म भर पा रहे हैं । वहीं हाल ही में इन छात्रों की चिंता  67वीं बीपीएससी के लिए भी है। बीपीएससी का नोटिफिकेशन जारी होने वाला है परंतु इन्हें परिणाम नहीं मिल पाया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.