Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

STET पास सैकड़ों अभ्यर्थियों ने रिजल्ट धांधली का आरोप लगाकर किया हंगामा

इस वक्त पटना से शिक्षक बहाली रिजल्ट को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. STET अभ्यर्थियों ने रिजल्ट होने के बाद भी मेरिट लिस्ट बनाकर छांटने

0 142

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन : इस वक्त पटना से शिक्षक बहाली रिजल्ट को लेकर बड़ी खबर सामने आ रही है. STET अभ्यर्थियों ने रिजल्ट होने के बाद भी मेरिट लिस्ट बनाकर छांटने का विरोध किया है. बुधवार को सैकड़ों की संख्या में STET  पास युवाओं ने सचिवालय के बाहर जमकर इसका विरोध किया. साथ ही सड़क को भी जाम कर दिया. उन्होंने इसमें धांधली का आरोप लगाया है. बुधवार को एसटीईटी उतीर्ण अभ्यर्थियों ने सीएम नीतीश और शिक्षा मंत्री विजय चौधरी का पुतला दहन भी किया. उधर राष्ट्रीय जनता दल ने भी एसटीइटी परीक्षा में हुई धांधली के विरोध में नीतीश कुमार और शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी का पुतला दहन किया. अभ्यर्थियों ने सरकार से इस विषय में ध्यान देने की अपील की है.

STET के अभ्यर्थी लगातार रिजल्ट में धांधली का आरोप लगा रहे हैं. अभ्यर्थियों का कहना है कि परीक्षा पास होने के बाद भी मेरिट लिस्ट से नाम हटा दिया गया है. STET अभ्यर्थियों ने आरोप लगाया है कि जो 24 हजार लोग पास हुए हैं उनको मेरिट लिस्ट से कैसे बाहर किया गया. जो भी लोग STET में पास हुए हैं सभी को मेरिट लिस्ट में आने की बात कही गई थी.

आपको बता दें कि बिहार में शिक्षक बहाली के लिए जारी की गई मेरिट लिस्ट का मामला अब तूल पकड़ने लगा है. इसे लेकर उन अभ्यर्थियों में रोष है जिन्हें इस मेरिट लिस्ट से बाहर कर दिया गया है. अभ्यर्थियों  का कहना है कि परीक्षा लेने के पहले ही यह बात लिखी गई है कि जितने विषय में रिक्ती होगी उतना ही रिजल्ट दिया जाएगा. जब रिजल्ट एक बार दे ही दिया गया तो फिर उसमें मेरिट लिस्ट की बात कहाँ से आती है. छात्रों का कहना है कि खुद शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने भी रिजल्ट जारी करते हुए कहा था कि सभी का नियोजन कर लिया जाएगा.

गौरतलब है कि बिहार में शिक्षक बनने के लिए STET की परीक्षा यह दुसरी बार ऑनलाइन  2020 में ली गई थी जबकि  पहली बार परीक्षा को धांधली का हवाला देकर सरकार ने रद्द कर दिया था जो ऑफलाईन आयोजित की गई थी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.