Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

जंगलों में माओवादियों ने किया अलग-अलग स्थानों पर 20 से 25 आईईडी विस्फोट

0 240

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: भाकपा माओवादियों के बीच सुरक्षा बलों के द्वारा चलाए जा रहे सर्च अभियान और सख्ती हड़कंप मचा है। वे अपनी दहशत लोगों के बीच फैलाने के लिए गया जिले के लुटुआ थाना के लांगुराही, नागोवर, भुसिया, लुटुआ एवं करिवाडोभा जंगली क्षेत्र में गुरुवार की सुबह मेंआइईडी विस्फोट कर दहशत फैला दी।

आइईडी विस्फोट में कोई भी हताहत नहीं हुआ। विस्फोट की आवाज सुनकर सीआरपीएफ और कोबरा के जवानों ने जंगलों की घेराबंदी की। इस दौरान सीआरपीएफ और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो गई। दोनों ओर से लगभग दो घंटों तक फायरिंग हुई। इसमें किसी को चोटें नहीं आई हैं। सीआरपीएफ के कोई भी अधिकारी उन क्षेत्र में आइईडी विस्फोट के बाद नहीं जा सके।

बता दें कि नक्सलियों ने गुरुवार को मगध बंदी की घोषणा की थी। इसी को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग पांच जंगली क्षेत्रों में लगभग 50 की संख्या में नक्सली जमा हुए थे, जो बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। इसी बीच लटुआ और इमामगंज कैंप से सीआरपीएफ जवानों की टुकड़ी सर्च अभियान के लिए निकली। जवानों के निकलने की जानकारी नक्सलियों को मिल गई। इसलिए जवानों के जंगली क्षेत्र में पहुंचने से पहले लांगुराही, नागोवर, भुसिया, लुटुआ एवं करिवाडोभा में लगभग 10 स्थानों पर पहले से लगाए गए 20 से 25 आइईडी विस्फोट बारी-बारी से हुए।

लगातार विस्फोट से जंगली इलाका दहल गया। गया और औरंगाबाद जिले की सीमा पर स्थित जंगल में नक्सली और सीआरपीएफ के कोबरा बटालियन के बीच रुक-रुककर गोलीबारी लगभग दो घंटे तक चलती रही। इमामगंज कैंप कमांडेड अवधेश कुमार ने बताया कि लुटूआ थाना क्षेत्र एवं मदनपुर थाना क्षेत्र के शिकारी कुआं, करीबाडोभा, लड्डइया के जंगलों में माओवादियों द्वारा अलग-अलग स्थानों पर 20 से 25 आइईडी विस्फोट किया गया। विस्फोट व फायरिंग में कोई हताहत नहीं हुआ

बता दें कि कुछ सप्ताह पहले भी औरंगाबाद जिले के मदनपुर थाना अंतर्गत लंगूराही में आईईडी विस्फोट नक्सलियों ने सुरक्षा बलों को निशाना बनाकर किया था । जिसमें सुरक्षा बलों के तीन जवान घायल हो गये थे। जिनका इलाज दिल्ली के एम्स में चल रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.