Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक शिक्षकों की बहाली के लिए फिर से जारी हुआ शेड्यूल, इस तारीख को मिलेगी नियुक्ति

0 119

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार एक बार फिर से शिक्षकों के नियोजन की प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। शिक्षा विभाग ने लंबे समय से चली आ रही माध्यमिक और उच्च माध्यमिक कक्षा के लिए छठे चरण की प्रक्रिया के लिए एक बार फिर से शेड्यूल जारी कर दिया है। आवेदन 28 अप्रैल से 27 मई तक लिये जायेंगे। 27 और 28 जुलाई को नियुक्ति पत्र दिये जायेंगे। 28 मई से 10 जून तक औपबंधिक मेधा सूची और 22 जुलाई को अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन कर लिया जायेगा।नियुक्ति प्रक्रिया में 2011 और 2013 में एसटीइटी पास आवेदकों को अवसर मिलेगा।

बजाज बाइक

बता दें कि पटना हाइकोर्ट के निर्देश के बाद शिक्षा विभाग ने छठे चरण की इस नियुक्ति प्रक्रिया में एसटीइटी-2011 पास वैसे सभी अप्रशिक्षित अभ्यर्थियों को शामिल होने का मौका दिया है, जिन्होंने 2017-19 में 26 सितंबर, 2019 तक बीएड परीक्षा पास कर ली है। इसके अलावा एसटीइटी -2011 में शामिल वे अभ्यर्थी, जिनका रिजल्ट 2013 में प्रकाशित हुआ है और 26 सितंबर, 2019 तक बीएड कर लिया है, वे भी इसमें भाग ले सकेंगे। इससे करीब 500 अभ्यर्थियों को लाभ मिलेगा। हालांकि, पूर्व में आवेदन करने वालों को दोबारा आवेदन करने की जरूरत नहीं है। वहीं 2017-19 सत्र से पूर्व बीएड करने वाले पूर्व से विज्ञप्ति पद पर आवेदन नहीं कर सकते हैं। ऐसे आवेदन पर विचार नहीं किया जायेगा।

28 अप्रैल से 27 मई तक आवेदन लिये जायेंगे। 28 मई से 10 जून तक औपबंधिक मेधा सूची तैयार होगी। 15 जून तक औपबंधिक मेधा सूची का अनुपालन कर 16 जून तक प्रकाशन किया जायेगा। 17 जून से चार जुलाई तक आपत्ति लेकर आठ जुलाई तक उनका निराकरण होगा। 10 जुलाई तक अंतिम मेधा सूची का प्रकाशन करना होगा।

इसके बाद कैंप लगाकर 13 जुलाई को नगर निगम, 14 को नगर पर्षद, 15 जुलाई को नगर पंचायत और 16 जुलाई को जिला पर्षद के लिए मेधा सूची में शामिल अभ्यर्थियों के मूलप्रमाण पत्रों की जांच होगी। वहीं 20 जुलाई तक फाइनल मेरिट लिस्ट पर अनुमोदन लिया जाएगा। 22 जुलाई तक फाइनल मेरिट लिस्ट को सार्वजनिक किया जाएगा। 28 जुलाई को जिला परिषद नियोजन इकाई की तरफ से नियुक्ति पत्र दिया जाएगा।

आपको बता दें कि छठे चरण के लिए लंबे समय से शिक्षक नियोजन की प्रक्रिया चल रही है। लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण से इसपर रोक लगा दे गई थी। लेकिन जब प्रक्रिया शुरू हुई तो पटना हाईकोर्ट की तरफ से बीएड अभ्यर्थियों द्वारा दायर किये गये अपील की सुनवाई कर रोक लगा दी गई थी। कोर्ट के फैसले के तहत अब 2017-19 तक बीएड करने वाले भी इसमें नये शेड्यूल के अनुसार अप्लाई कर सकेंगे । हालांकि रिक्तियां न के बराबर है। पुरानी रिक्ती पर ही सरकार बहाली करने पर आमादा है। छात्रों ने रिक्तियों को लेकर कई बार प्रदर्शन भी किया है। लेकिन कोई फायदा नीतीश सरकार की तरफ से छात्रों को नहीं मिला।

Leave A Reply

Your email address will not be published.