Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

आरजेडी प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह ने कार्यालय जाना छोड़ा, सवालों पर भड़के तेजप्रताप

0 109

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार के राजनीतिक गलियारों में इस वक्त सियासी घमासान मचा है। जिस दिन से लालू प्रसाद के बड़े पुत्र तेज प्रताप ने जगदानन्द सिंह को हिटलर कहा है  उस दिन से वे नाराज चल रहे हैं । मालूम हो कि तेज प्रताप ने दो दिन पहले प्रदेश कार्यालय में आयोजित छात्र राजद की बैठक को संबोधित करते हुए जगदानंद सिंह को हिटलर बताया था और यहाँ तक कहा था की
कुर्सी किसी की बपौती नहीं है।

वहीं पिछले दिनों तेजप्रताप के पोस्टर से तेजस्वी यादव के गायब होने के बाद अब पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पिछले दो दिनों से राजद कार्यालय नहीं पहुंच रहे हैं। जिसके बाद एक बार फिर राजद में खटपट के संकेत मिल रहे हैं। पिछले दिनों लगातार खबरें सामने आ रही थी कि तेजप्रताप जगदानंद सिंह को लेकर जिस तरह का व्यवहार कर रहे हैं, उससे वे काफी नाराज हैं।

तेज प्रताप यादव ने कहा था की जगदानंद सिंह हिटलर की तरह बात करते हैं। पहले हर समय पार्टी कार्यालय का गेट खुला रहता था, लेकिन जब से पिताजी को विरोधियों ने फंसाया है। उसके बाद अब गेट बंद रहता है। उन्होंने यह भी कहा था की कुर्सी किसी की बपौती नहीं होती है। सबको छोड़ने पड़ती है। कुर्सी किसी की नहीं होती है, कब किसकी कुर्सी चली जाए कोई ठिकाना नहीं होता है।

उन्होंने कहा कि जब हम स्वास्थ्य मंत्री थे, हमारी भी कुर्सी गई थी। बताया जा रहा है की तेजप्रताप के इस बयान के बाद जगदानंद सिंह नाराज चल रहे हैं। जब इस सवाल को तेजप्रताप से पूछा गया तो वे मीडियाकर्मियों पर ही भडक गए। आज जब वह राजद कार्यालय से बाहर निकल रहे थे तो इसी दौरान मीडिया ने उनसे सवाल किया।

इसके बाद उन्होंने पहले तो मीडिया से पूछा कि आप भाजपा के आदमी हैं या आरएसएस के? इसके बाद ही उन्होंने जगदानंद सिंह की नाराजगी की गलत खबर चलाने की बात कह कर मीडिया वालों पर ही केस दर्ज किये जाने की धमकी दे डाली।

उन्होंने कहा कि वह मीडिया पर ही केस करेंगे जगदा बाबू के नाराजगी की झूठी खबर चलाई जा रही है। तेजप्रताप ने कहा कि अब आप लोग के ऊपर ही पीआईएल होगा।हालांकि, तेजप्रताप खुद यह नहीं समझ पाए कि पीआईएल का मतलब जनहित याचिका होता है और इस मामले में जनहित याचिका कैसे दर्ज की जा सकती है?

गौरतलब है की यह पहली बार नहीं है जब तेजप्रताप यादव ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह पर निशाना साधा हो। वे कई बार पहले भी उनपर निशाना साध चुके हैं । पार्टी के स्थापना दिवस कार्यक्रम तो उन्होंने बकायदा नाम लेकर उनपर निशाना साधा था । वहीं कई बार ऐसी भी खबरें आई हैं कि जगदानंद सिंह  पार्टी से कब का इस्तीफा दे देंते लेकिन लालू प्रसाद के भावनात्मक अपील के बाद वे अपना फैसला बदल देते हैं । लेकिन इस बार पानी सर से उपर पहुंच चुका है और जगदा बाबू को मनाना मुश्किल माना जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.