Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

खिरियावां: शतचंडी महायज्ञ में पहुंचे कथावाचक श्री गुप्तेश्वर पांडेय, प्रवचन सुनकर श्रोता हुए मंत्रमुग्ध

0 255

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: औरंगाबाद जिले के मदनपुर प्रखंड अंतर्गत खिरियावां में हो रहे मां दुर्गा प्राण प्रतिष्ठा सह शतचंडी महायज्ञ के मौके पर रात्रि 10 बजे के लगभग रविवार को प्रसिद्ध कथावाचक एवं पूर्व डीजीपी बिहार गुप्तेश्वर पांडेय यज्ञ स्थल पर पहुंचे। उनके आगमन पर भव्य  स्वागत किया गया। उन्होंने महायज्ञ में अपने प्रवचन से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया । इस महायज्ञ में दूर-दूर से आए महिलाओं , पुरुषों एवं बच्चों ने तालियां बजाकर उनके कथा का आनंद लिया ।

इस दौरान कथावाचक श्री गुप्तेश्वर पांडेय ने श्रोताओं से संवाद भी कायम किया । उन्होंने कहा कि कितने लोग हैं जो नर्क जाना चाहते हैं हाथ उपर करें। इस सवाल पर किसी ने भी हाथ नहीं उठाया।

वहीं जब उन्होंने यह सवाल पूछा कि कितने लोग स्वर्ग जाना चाहते हैं तो सभी ने हाथ ऊपर कर दिया । इसके बाद उन्होंने कहा कि कर्म अच्छी कीजिए तब न स्वर्ग जाएंगे । काम एवं लोभ से उपर उठें।

उन्होंने भारत के माताओं और उनके सपूतों का भी एक कथा के द्वारा खूब गुणगान किया । उन्होंने कहा कि भारत की माताएँ वीर को जन्म देती हैं । उन्हें नाज होता है जब देश की रक्षा करते हुए उनका पुत्र शहीद होता है। वे मायूस नहीं होती हैं । उन्होंने इस दौरान एक कथा  सुनाते हुए कहा कि एक मां के तीन बेटे थे। जब उनके दो बेटे बारी-बारी से देश की रक्षा के लिए शहीद हुए तो उस मां ने मिठाइयां लोगों के बीच बांटी । लोगों ने कहा कि बुढ़िया पागल हो गई है। लेकिन जब तीसरा पुत्र भी शहीद हो गया तो वह रोने लगी । लोगों ने जब पूछा कि अब क्यों रो रही हो ? आपने तो पुत्रों की शहीद पर मिठाइयां बांटी हैं । तब उस बूढ़ी मां ने जवाब दिया कि वह इसलिए रो रही है। क्योंकि अब उनके पास कोई भी पुत्र नहीं है जो देश की रक्षा के लिए शहीद हो ।

कथावाचक श्री गुप्तेश्वर पांडेय ने भ्रष्टाचार पर भी इस दौरान चोट करते हुए कहा कि जनता चुनाव में पैसे लेकर कैसे अच्छे कार्य की उम्मीद कर सकता है ?  उन्होंने कहा कि समाज में फैली कुरूतियों को भी मिटाना होगा ।  इस दौरान उन्होंने लगभग 1:30 घंटे तक कथा किया । बता दें कि कथावाचक श्री गुप्तेश्वर पांडेय औरंगाबाद जिले के एसपी भी रह चुके हैं ।

मालूम हो कि यह महायज्ञ एक अप्रैल से ही शुरू है। जहाँ प्रतिदिन मधुसूदन बाबा द्वारा कथा और बाद में रामलीला का भी आयोजन किया जा रहा था।

इस अवसर पर हाल ही में निर्वाचित हुए एमएलसी दिलीप कुमार सिंह, बेरी पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि प्रफुल्ल सिंह, खिरियावां पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि रंजीत कुमार यादव, समाजसेवी केदार साव,समाजसेवी देव नंदन साव, उदय कुमार शिकारी सहित कई लोग उपस्थित रहे ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.