Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

पुलिस ने किया भारी मात्रा में शराब बरामद, ट्रक में फर्नीचर के पीछे डब्बा बनाकर छुपाया था शराब

0 137

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में शराब बंदी की प्रतिदिन खबरें छाई रहती हैं । लेकिन उससे अधिक खबर मीडिया की सुर्खियों में इसकी बरामदगी को लेकर रहती हैं । प्रतिदिन बिहार में हजारों लीटर देशी-विदेशी शराब प्रशासन द्वारा  बरामद की जा रही है। इससे साफ़ पता चलता है कि बिहार में इसका व्यापार प्रशासन की सख्ती के बावजूद भी नहीं रूक रहा है। ताजा मामला औरंगाबाद जिले के बारुण थाना क्षेत्र से जुड़ा है जहाँ टेंगरा महादेव होटल के पास से बारुण पुलिस ने एक कंटेनर के साथ भारी मात्रा में शराब जप्त किया है।

शराब

इस मामले में प्रभारी थानाध्यक्ष शंभू प्रसाद यादव ने बताया कि पटना मद्य निषेध ईकाई टीम के इंस्पेक्टर आनंद शंकर के सूचना के आधार पर बारुण थाना के एस०आई० दीनानाथ सिंह, विपिन बिहारी सिंह व पुलिस के सहयोग से बारुण थाना क्षेत्र के महादेव होटल पर खड़ी कंटेनर में छापामारी की गई।

शराब

इस छापेमारी के दौरान कंटेनर पर रखे फर्नीचर के पीछे डब्बा बनाकर शराब को ढका हुआ था। तलाशी के दौरान कंटेनर से भारी मात्रा में विदेशी शराब बरामद किया गया। कंटेनर ट्रक नंबर एच०आर० 37 डी 0351 पर छुपा कर शराब रखा हुआ था जिसे जप्त कर लिया गया है।

शराब

बताया जाता है कि जप्त इंग्लिश शराब में अफ्सर च्वाइस, किंग गोल्ड, रोयल स्टोक, सिग्नेचर के सैकड़ों बोतल में कुल लगभग ढाई हजार लीटर शराब है। साथ ही चालक धर्मवीर सिंह एवं अब्दुल कादिर को गिरफ्तार कर लिया गया है जो अमेठी (उ०प्र०) के रहनेवाले हैं।

आपको बता दें औरंगाबाद जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रों से कुछ दिन पूर्व हाल ही में हजारों लीटर की बरामदगी प्रशासन ने की है। साथ ही इस मामले में कई लोगों को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा गया है लेकिन फिर भी इस अवैध धंधा को छोड़ने का कुछ माफिया नाम नहीं ले रहे हैं ।

शराब

खैर नीतीश सरकार ने अब इसे लेकर और भी सख्ती बढ़ाने का निर्देश सभी थानों को दे रखा है। यही कारण भी है कि अधिक संख्या में कारोबारी पकड़े जा रहे हैं । लेकिन इसे सफल बनाने के लेकिन लोगों को भी आगे आना होगा और जागरूकता बढ़ाना होगा । तभी पूरी तरह से इस पर अंकुश संभव है। इसे लेकर विपक्ष भी नीतीश कुमार को लगातार घेरती रहते है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.