Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून पर CM नीतीश से अलग राय रखते हैं उपेंद्र कुशवाहा

उपेन्द्र कुशवाहा ने योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून का समर्थन करते हुए कहा कि समय के अनुसार बिहार में भी इसकी आवश्यकता बढ़ गयी है।

3 90

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर उत्तर प्रदेश में जहाँ राजनीतिक जंग छिड़ गया है तो बिहार में भी कमोबेश वही स्थिति बनती जा रही है। एक ही राजनीतिक दल में नेताओं की इस मुद्दे पर अलग-अलग राय है। जनसंख्या कानून पर जेडीयू में भी दो राय है। जहाँ एक तरफ सीएम नीतीश कुमार सीएम योगी के इस कानून को बिहार में लाने से इंकार करते हैं वहीं उनकी ही पार्टी के नेता उपेंद्र कुशवाहा इस मामले में सीएम नीतीश से अलग राय रखते हैं ।

उपेन्द्र कुशवाहा ने योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून का समर्थन करते हुए कहा कि समय के अनुसार बिहार में भी इसकी आवश्यकता बढ़ गयी है। क्योंकि जिस तरह से आबादी बढ़ रही है उसका असर विकास पर दिखेगा।राज्य सरकार को भी परामर्श कर इस कानून को लागू करने की आवश्यकता है। उन्होंने सुशासन राज में पुलिस की कार्यशैली पर कोर्ट द्वारा लिए गए संज्ञान पर हामी भरते हुए दबी जुबान से इसका समर्थन किया। लेकिन साथ ही सुशासन की भी सराहना की।

आपको बता दें कि पिछले दो दिन से बिहार का दौरा कर रहे उपेन्द्र कुशवाहा रविवार को मोतिहारी में थे। यहां उन्होंने वैसे परिवारों से मुलाकात की जिनके कोई सदस्य कोरोना महामारी के शिकार हो गए। बाद में उन्होंने अपने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का जायजा लिया। सोमवार को मोतिहारी नगर के जिला अतिथि गृह में कुशवाहा ने नीतीश सरकार के चलाए जा रहे योजनाओं को मीडिया के सामने रखा।

उपेंद्र कुशवाहा ने योगी सरकार के जनसंख्या नियंत्रण कानून का समर्थन करते हुए कहा कि जनसंख्या का सीधा असर विकास पर पड़ता है। इसलिए समय के अनुसार से बिहार में भी इस बारे में सोचने की आवश्यकता है। वहीं दूसरी तरफ सीएम नीतीश कुमार इस बात से इतफ़ाक नहीं रखते हैं ।उनका कहना है की जनसंख्या नियंत्रण के लिये कानून की आवश्यकता नहीं है। बल्कि महिलाओं को साक्षर करने की जरूरत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.