Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा- मैं केंद्र में मंत्री रह चुका हूँ, इसलिए बिहार में मंत्री बनना अपमान की बात

0 171

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में जेडीयू संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष और एमएलसी उपेंद्र कुशवाहा मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने के खबरों को लोगों ने कई मायनों में अर्थ निकाला। वहीं उनके नाराजगी की खबरें भी आने लगी।
लेकिन रविवार को इस बीच उपेंद्र कुशवाहा का बयान आया। उन्होंने कहा कि मेरे बारें में भ्रामक खबरें फैलाई जा रही हैं। वे कभी बिहार सरकार में मंत्री बनना ही नहीं चाहते थे। इसलिए नाराजगी की बात सही नहीं है। वहीं एक अन्य सवाल के जवाब में कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार के समय वे परिवार के साथ घूमने गया था। इसलिए नहीं आ सका। आपलोगों का कयास सही नहीं है।

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि उन्होंने मंत्री बनने की इच्छा जाहिर नहीं की और ना कभी मैं मंत्री बनूंगा। आप लोग लिख लीजिये क्योंकि मैं केंद्र में मंत्री रह चुका, इसलिए बिहार में मंत्री बनना अपमान की बात है। हमारा लक्ष्य है 2024 का लोकसभा चुनाव और अपने नेता नीतीश कुमार को 2024 में स्थापित करना है। जब मैं पार्टी में आया था उसी समय मैंने डिसाइड किया था कि मैं संगठन के लिए काम करूंगा हमें मंत्री नहीं बनना है। 2024 तक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने नेता को देश के स्तर तक स्थापित करना है। नीतीश कुमार देश के सबसे बेहतर प्रधानमंत्री साबित हो सकते हैं।

कुशवाहा ने कहा कि हम लोग विपक्ष की एकता में कोई बाधा नहीं बनेंगे। सभी लोगों से बातचीत होगी उसके बाद ही कोई फैसला होगा, लेकिन 2024 में नीतीश कुमार प्रधानमंत्री को उम्मीदवार में विपक्ष के चेहरा में सबसे उपयुक्त होंगे। कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार के नजदीकी होने के कारण ही सुशील मोदी को भाजपा ने सजा दी। वही कुशवाहा ने कहा भाजपा के साथ यही दिक्कत है जब साथ कोई पार्टी रहेगा तब तक सब कुछ सही है और जैसे ही हट जाएगा वह पार्टी खराब हो जाएगा। खुद प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस समय के सबसे बड़े समाजवादी नेता बताए थे।

जदयू नेता बीमा भारती के मंत्री लेसी सिंह पर भ्रष्टाचार का समर्थन करने और विरोधियों को डराने धमकाने वाले बयान पर कुशवाहा ने कहा कि बीमा भारती को इस तरह का बयान नहीं देना चाहिए। मुख्यमंत्री ने बिल्कुल सही कहा है।

वहीं उपेंद्र कुशवाहा ने आरसीपी सिंह पर निशाना साधते हुए कहा कि 2020 के विधानसभा चुनाव में जो जेडीयू की कम सीटें मिलीं वह आरसीपी सिंह का ही परिणाम था। उन्होंने बीजेपी द्वारा लगाए गये इस आरोप पर भी जवाब दिया कि नीतीश मंत्रिमंडल में कई पर गंभीर आरोप है। उन्होंने कहा कि बीजेपी शासित कई राज्यों के मंत्रियों पर भी कई गंभीर आरोप है। इसलिए बीजेपी अपने गिरेबां में झांककर देखे। नीतीश कुमार को किसी सलाह की जरूरत नहीं है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.