Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

छपरा जहरीली शराब कांड में 11 लोगों की मौत, RJD ने CM नीतीश से पूछा- सरकार और कितनों की लेगी जान

0 160

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में जहरीली शराब पीने से छपरा के मकेर थाना क्षेत्र के भाथा नोनिया टोली व भेल्दी थाना क्षेत्र के सोनहो भाथा गांव में अबतक 11 लोगों की मौत हो गई है। ये सभी मौतें जहरीली शराब पीने से हुई है। इनमें से नौ की मौत पीएमसीएच में जबकि एक की मौत छपरा से पटना ले जाने के दौरान हो गई। वहीं एक अन्‍य की मौत छपरा में ही हो गई। 30 लोग अभी भर्ती हैं जिनका इलाज चल रहा है। कई की आंखों की रौशनी चली गई है।

इस घटना से पूरे बिहार में हड़कंप मचा है। लापरवाही को लेकर जिले के एसपी ने मकेर थानेदार नीरज मिश्रा एवं फुलवरिया भाथा के चौकीदार को सस्‍पेंड कर दिया है। इस मामले को लेकर राजनीति भी तेज है।आरजेडी ने जहरीली शराब से हुई मौतों का जिम्मेदार बिहार सरकार को बताया है। आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि शराबबंदी के बावजूद इस तरह की घटनाएं कम होने का नाम नहीं ले रही है।

छपरा में जहरीली शराब से मौत पर आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि आये दिन लगातार हर जगह से खबर आते रहती है कि जहरीली शराब से लोगों की जान जा रही है। इसका जवाब तो सरकार में बैठे लोगों को देना होगा। आरजेडी प्रवक्ता ने कहा कि कार्रवाई के नाम पर आप सिर्फ छोटी मछलियों को फंसाते हैं। चौकीदार-थानेदार पर कार्रवाई होती है। बड़ी मछलियों पर कारवाई कब होगी। शराब तस्कर और शराब माफिया पर सरकार हाथ नहीं डालती है।

आरजेडी प्रवक्ता ने कहा कि जब महागठबंधन की सरकार थी तो यह सफल था। लेकिन जब एनडीए की सरकार बनी तो यह पूरी तरह फ़ेल हो गया है। उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को सोचना चाहिए कि आखिर वे बीजेपी के साथ होते हैं तभी यह शराब बंदी विफल क्यों होती है। उन्होंने कहा कि अब सरकार जहरीली शराब से और कितने लोगों को मारेगी। उन्होंने कहा कि सीधे तौर पर इस मौत के लिए सरकार जिम्मेवार है। जब पूरा तंत्र लगा है तो फिर यह विफल क्यों है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.