Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

दहेज मुक्त समाज की स्थापना करना है मेरा अंतिम लक्ष्य: पूर्व प्रधानाचार्य उपेंद्र सिंह

0 361

परबता ( खगड़िया)  से लाली सिंह की रिपोर्ट

बिहार नेशन: समाज में आज भी ऐसे लोगों की कमी नहीं है जो बिना दहेज की शादी अपने बच्चों की किया करते हैं और उनकी इस कार्य में कई समाजसेवी मदद करते हैं । कुछ इसी तरह की कहानी है पूर्व प्रधानाचार्य  शिक्षक उपेंद्र सिंह का।  उन्होंने अपने पुत्र की शादी बिना दहेज की है।

पूर्व शिक्षक प्रधानाचार्य उपेंद्र सिंह का कहना है कि दहेज प्रथा को जड़ से समाप्त करने के लिए हम आम आदमी को प्राण प्रतिष्ठा लेकर ही यह योजना सफल हो सकती है यह बात है उन्होंने सुपुत्र श्री शशि सिंह के तिलक समारोह के मौके पर  कहा ।

जिसमें सलारपुर भरसो बिसौनी पंचायत के गणमान्य व्यक्तियों ने इनकी बातों की सराहना की।  इस मौके पर उन्होंने 499 गरीब लोगों को खाना एवं कपड़े का वितरण किया।  इस मौके पर भरसो सलारपुर पंचायत के पूर्व प्रधानाचार्य श्री चमक लाल सिंह का भी उनसे मिलाजुला वक्तव्य था कि मैं भी अपने बच्चों की शादी दहेज मुक्त करने का निर्णय लिया हूँ। इस मौके पर इस ग्राम के पूर्व मुखिया सुशील सिंह एवं वर्तमान मुखिया प्रतिनिधि योगी सिंह का भी यही वक्तव्य था कि दहेज मुक्त समाज की स्थापना करना हुई मेरा प्रथम लक्ष्य है।

इस मौके पर जब बिहार नेशन की टीम द्वारा ने उपेंद्र सिंह की बड़ी बहू नीतू सिंह संजय से संपर्क किया गया तो उनका साफ तौर पर कहना था कि मैं भी दहेज मुक्त होकर इस घर में आई थी और मेरे देवर शशी सिंह की शादी भी दहेज मुक्त हो रही है। मुझे बहुत ही अपने पिता तुल्य ससुर उपेंद्र सिंह पर गर्व महसूस होती है। मैं उनके साथ दहेज मुक्त बिहार के लिए कदम से कदम मिलाकर चलने की कोशिश हमेशा करूंगी ताकि समाज में दहेज मुक्त शादी की स्थापना हमेशा चलती रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.