Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद: मदनपुर धर्मशाला में स्वर कोकिला लता मंगेशकर को दी गई श्रद्धांजलि

0 192

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: राष्ट्रवादी संस्था सैल्यूट तिरंगा, बिहार के तत्वाधान में  औरंगाबाद जिला अंतर्गत मदनपुर धर्मशाला में ब्रह्मलीन लता मंगेशकर की स्मृति में श्रृद्धांजलि सभा आयोजित की गई। इस अवसर पर क्षेत्र के अनेक समाजसेवी, बुद्धिजीवी तथा राष्ट्रवादी विचार पोषक उपस्थित थे ।वैदिक मंत्र प्रणवोचार के साथ ब्रह्मलीन आत्मा को पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई ।

स्वर्गीय लता मंगेशकर

वहीं इससंस्था के प्रदेश संरक्षक जितेंद्र सिंह  परमार ने लता मंगेशकर के निधन को संगीत और कला जगत के लिए अपूरणीय क्षति बताया तथा कहा कि लता जी ने गीत को कभी व्यवसाय की दृष्टि से न देखते हुए विशुद्ध रूप से साधना के रूप में स्वीकार किया था। इनके गाए हुए गीत का माधुर्य हृदय  की गहराइयों तक उतर जाता था। इनके कंठ से निकलने वाले गीत के प्रत्येक शब्द मां शारदे के चरणों  की पुष्पांजलि हो जाती थी।  गायन के समय उन्होंने कभी भी पैर में चप्पल धारण नहीं किया ।क्योंकि गीत को ये सदैव भगवान की पूजा मानती थी ।यही वजह है कि न सिर्फ़ भारत बल्कि पूरी दुनिया का एक वृहद समूह लता जी के गीतों को सदैव अपने स्मृति पटल पर जीवंत बनाए रखेगा।

सैल्यूट तिरंगा के प्रदेश महामंत्री राणा आशुतोष कुमार सिंह ने भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि इस तरह की साधिका सैकड़ों वर्षो में कभी कभार धरती पर आती है। भाव विह्वल कंठ से कहा कि लता जी के निधन से भारत में संगीत  साधना की दुनियां में एक युग का अंत हो गया। देश प्रेम की भावना से ओतप्रोत इनके गीत” ऐ मेरे वतन के लोगों ,जरा आंख में भर लो पानी,  जो शहीद हुए उनकी जरा याद  करो कुर्बानी” यह गीत  राष्ट्र भक्तों को सदैव राष्ट्रिय कर्तव्यों का बोध कराती रहेगी।

आयोजित इस श्रद्धांजलि सभा में सैल्यूट तिरंगा के जिला संरक्षक दिलीप प्रसाद गुप्ता संतोष कुमार सिंह,   जितेंद्र, ऋषि आसन ,दिग्विजय सिंह, मनोज कुमार, दयानंद मांझी , मिथिलेश राम, अनुज कुमार ,आनंद कुमार मांझी ,गौतम कुमार दास, हरे राम कुमार तथा दीपक भूइआं सहित अनेक लोग उपस्थित रहे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.