Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

मदनपुर प्रखंड के पंचायतों में धूमधाम से मनाई गई संत रविदास जयंती, जानिए उनके बारे में रोचक बातें और उनके उपदेश! 

0 343

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: औरंगाबाद जिले के मदनपुर प्रखंड अंतर्गत कई पंचायतों में संत रविदास जयंती बुधवार को धूमधाम से मनाई गई । वहीं इस मौके पर  अटल बिगहा में भी संत रविदास जयंती बड़ी धूमधाम से मनाई गई । इस मौके पर हवन और पूजन और भंडारा का आयोजन किया गया । बता दें कि संत रविदास का जन्म हिन्दू कैलेंडर के आधार पर माघ माह  की पूर्णिमा तिथि को हुआ था, इसलिए हर साल माघ पूर्णिमा को रविदास जयंती मनाते हैं । संत रविदास धार्मिक प्रवृति के दयालु एवं परोपकारी व्यक्ति थे । उनका जीवन दूसरों की भलाई करने में और समाज का मार्गदर्शन करने में व्यतीत हुआ । वे भक्तिकालीन संत एवं महान समाज सुधारक थे । उनके उपदेशों एवं शिक्षाओं से आज भी समाज को मार्गदर्शन मिलता है । संत रविदास को रैदास, गुरु रविदास, रोहिदास जैसे नामों से भी जाना जाता है ।

अटल बिगहा

संत रविदास जी के कुछ महत्वपूर्ण उपदेश :-

– व्यक्ति पद या जन्म से बड़ा या छोटा नहीं होता है, वह गुणों या कर्मों से बड़ा या छोटा होता है।

– वे समाज में वर्ण व्यवस्था के विरोधी थे. उन्होंने कहा है कि सभी प्रभु की संतान हैं, किसी की कोई जात नहीं है।

– रविदास जी ने बताया है कि सच्चे मन में ही प्रभु का वास होता है. जिनके मन में छल कपट होता है, उनके अंदर प्रभु का वास नहीं होता है. संत रैदास ने कहा है कि मन चंगा तो कठौती में गंगा।

– संत रविदास जी ने दुराचार, अधिक धन का संचय, अनैतिकता और मांसाहार को गलत माना है. उन्होंने अंधविश्वास, भेदभाव, मानसिक संकीर्णता को समाज विरोधी माना है।

– संत रविदास जी भी कर्म को प्रधानता देते थे. उनका कहना था कि व्यक्ति को कर्म में विश्वास करना चाहिए. आप कर्म करेंगे, तभी आपको फल की प्राप्ति होगी. फल की चिंता से कर्म न करें।

– संत रैदास ने कहा है कि व्यक्ति को अभिमान नहीं करना चाहिए. दूसरों को तुच्छ न समझें. उनकी क्षमता जिस कार्य को करने की है, संभवत: वह आप नहीं कर सकते।

– वे कहते हैं कि हम सभी यह सोचते हैं कि संसार ही सबकुछ है, लेकिन यह सत्य नहीं है. परमात्मा ही सत्य है।

वहीं इस जयंती के मौके पर बनिया पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि डॉक्टर रामानंद रविदास, वार्ड सदस्य सनी कुमार, डॉक्टर सिंगार राम,दिलीप राम,मृत्युंजय कुमार, मनु राम,  प्रमोद राम, भीम दास, महेंद्र राम सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित रहे ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.