Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

4 साल की बच्ची का हुआ पुनर्जन्म!वह बोली 9 साल पहले हुई थी ऐसे मौत,पिछले जन्‍म की स्‍टोरी निकली एकदम सच

0 356

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: आपने अपनी जीवन में पुनर्जन्म की कई कहानियों को कई माध्यमों से देखा और सुना होगा। आप ये भी सोंचते होंगे कि ये सब काल्पनिक बातें हैं ।

बिहार नेशन

लेकिन आपको बता दें कि एक इसी तरह की कहानी राजस्थान के उदयपुर से है जो पूरी तरह से सच निकली है। जिसने भी इस कहानी को सुना और पड़ताल किया वह दंग रह गया ।

बनिया पंचायत

दरअसल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक राजसमंद में एक 4 साल की बच्ची ने अपने पुनर्जन्म को लेकर जो दावे किए, वो हैं ही चौंकाने वाले। मासूम बच्ची की बातों से उसके मां-बाप, सभी रिश्तेदार और गांव वाले सब अचरज में पड़ गए।

वोटर्स पार्टी इंटरनेशनल

दरअसल इस बच्ची ने अपने पिछले जन्म की जो बातें और किस्सा बताया वो एकदम सच निकला है। पहली जिंदगी में उसकी मौत कब और कैसे हुई, बच्ची यह सब बताती है।

एरकी कला पंचायत

नाथद्वारा से सटे परावल गांव में रहने वाले रतनसिंह चूंडावत की 5 बेटियां हैं। बीते करीब एक साल से उनकी सबसे छोटी बेटी 4 साल की किंजल बार-बार भाई से मिलने की बात कह रही थी। परिवार में पहले तो किसी ने भी बालमन की बात समझकर ध्यान नहीं दिया।

उत्तरी उमगा पंचायत

दो महीने पहले जब किंजल की मां दुर्गा ने उसे अपने पापा को बुलाने को कहा तो वह बोली पापा तो पिपलांत्री में हैं। पिपलांत्री वही गांव है, जहां ऊषा नाम की एक महिला की जलने से मौत हो गई थी। किंजल के अभी के गांव परावल से करीब 30 किलोमीटर दूर। बच्ची ने कहा कि उसका नाम ऊषा है।

खिरयावां पंचायत

अब किंजल की मां का माथा ठनका। उसकी पुनर्जन्म की कहानी सबसे पहले मां ने सुनी। फिर पूरे परिवार ने बच्ची से जब पिपलांत्री गांव के बारे में अलग अलग सवाल-जवाब किए गए तो उसकी बातों से पूरा परिवार सन्न रह गया।

मदनपुर पंचायत

बच्ची की मां दुर्गा के पूछने पर किंजल बताती है कि उसके मां-बाप और भाई समेत पूरा परिवार पिपलांत्री में रहता है। वह 9 साल पहले जल गई थी। इस हादसे में उसकी मौत हो गई और एंबुलेंस यहां छोड़कर चली गई थी।

वरिष्ठ बीजेपी नेता

जब दुर्गा ने यह बात बच्ची के पिता रतन सिंह को बताई तो वह जिद कर रही बच्ची के दावों को सुनकर उसे मंदिर समेत कई जगह ले गए।

एरकी कला पंचायत समिति सदस्य

किंजल को डॉक्टरों को भी दिखाया तो भी उसमें कोई समस्या या बीमारी नहीं पाई गई। वो एकदम सामान्य और स्वस्थ्य थी।

जाप पार्टी नेता

वो तो बस बार-बार अपने पहले जन्म के परिवार से मिलने की रट लगाए रहती थी। किंजल ने कहा कि उसके परिवार में दो भाई-बहन हैं। पापा ट्रैक्टर चलाते हैं। उसका पीहर पीपलांत्री और ससुराल ओडन में है।

बब्लू टाइल्स दूकान 

गौरतलब हो की पुरातन ग्रंथों में पुनर्जन्म की बातें मिलती हैं । लेकिन इसे लोग कल्पना समझकर तवज्जो नहीं देते हैं । लेकिन टीवी सिरयलो या फिल्मों में अक्सर पुनर्जन्म की कहानियों को लोग देखते और सुनते हैं ।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.