Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

औरंगाबाद: अचानक तबीयत बिगड़ने से ड्यूटी पर तैनात दारोगा की मौत,परिजनों में छाया मातम

0 158

 

संवाददाता

बिहार नेशन: कब किसकी और कैसे मौत हो जाय कोई नहीं जानता है। कुछ ऐसी ही खबर औरंगाबाद जिले से  जुड़ी हुई आ रही है जहाँ गोह में उपहारा थाना क्षेत्र के गोरकट्टी गांव निवासी दरोगा 53 वर्षीय जितेंद्र पासवान की अचानक ड्यूटी के दौरान तबीयत बिगड़ जाने से मौत हो गई। हालांकि उन्हें अचानक तबियत बिगड़ने पर  अनुमंडलीय अस्पताल बगहा में इलाज के लिये ले जाया गया। लेकिन उन्हें नहीं बचाया जा सका ।

हमीद अख्तर उर्फ सोनू ,मुखिया प्रत्याशी, ग्राम पंचायत मदनपुर

 

जैसे ही मौत की खबर उनके परिजनों को मिली घर मे कोहराम मच गया। बताया जाता है कि एसआई जितेंद्र पासवान पश्चिम चंपारण जिले के बगहा पुलिस जिला के पटखौली थाना में कार्यरत 53 वर्षीय एसआई जितेंद्र पासवान शनिवार की शाम पुलिस गस्ती में थे की अचानक तबीयत बिगड़नेे लगी।  साथ में रहे पुलिस के सहयोग से उन्हें अनुमंडलीय अस्पताल बगहा में भर्ती कराया गया जहां रविवार की अहले सुबह 4:00 बजे इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

अनुमंडलीय अस्पताल के चिकित्सक डॉ विजय कुमार ने बताया कि जब उन्हें पुलिस कर्मी के सहयोग से अस्पताल लाया गया उस समय उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी जिसके कारण ऑक्सीजन दिया गया था लेकिन उनकी मौत हो गई।

बता दें कि दरोगा जितेंद्र 4 अगस्त को घर आये थे। हालांकि आने के दौरान वे 25 हजार रुपये लेकर लौट रहे थे कि पटना स्टेशन पर पॉकेटमार उनकी 25 हजार रुपये लेकर चम्पत हो गये । उसके बाद वे किसी तरह जैसे तैसे अपने घर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने 9 अगस्त तक अपने परिजनों के साथ हंसी-खुशी अपने घर पर रहे और 9 अगस्त को ही पटखौली थाना पहुंच कर अपनी जिमेवारी सम्भाली थी और 22 अगस्त की अचानक मोत हो गई ।

दरोगा जितेंद्र का शव का अंतिम संस्कार उपहारा पुलिस की मौजूदगी में पुनपुन नदी घाट पर हिन्दू रीति रिवाज के साथ किया गया। इस दौरान उपस्थित लोगों में उपहारा थानाध्यक्ष रामराज सिंह के साथ समाजसेवी डॉ महेंद्र रजक, सरपंच प्रतिनिधि लखन पासवान के साथ दर्जनों लोग अंतिम संस्कार में शामिल हुए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.