Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बड़ी खबर: आरजेडी के राज्यसभा सांसद एडी सिंह को ईडी की टीम ने किया गिरफ्तार

इस समय बिहार का राजनीतिक पारा उफान पर है। अब बिहार के राजनीतिक गलियारों से बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है। बिहार में प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद के एक राज्यसभा सांसद एडी सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

1 210

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: इस समय बिहार का राजनीतिक पारा उफान पर है। अब बिहार के राजनीतिक गलियारों से बड़ी खबर निकलकर सामने आ रही है। बिहार में प्रमुख विपक्षी पार्टी राजद के एक राज्यसभा सांसद एडी सिंह को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। यह गिरफ्तारी प्रवर्तन निदेशालय यानि ईडी की टीम ने किया है। राज्यसभा सांसद अमरेन्द्र धारी सिह पर फर्टिलाइजर्स घोटाला का मामला दर्ज है। इस गिरफ्तारी पर जेडयू नेता नीरज  कुमार का बयान भी आ गया है. उन्होंने इस गिरफ्तारी पर राजद पर निशाना साधते हुए कहा है कि राजद के भ्रस्टाचारी नेताओं में एक और नाम जुड़ गया है. वहीं राजद प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार तो खुद सृजन घोटाले में संलिप्त हैं.उनकी गिरफ्तारी क्यों नहीं होती है.

आपको बता दें कि सांसद एडी सिंह का नाम पिछले साल उस समय चर्चा में आ गया था जब राजद ने उन्हें राज्यसभा के लिए उम्मीदवार बनाया था. बाताया जाता है कि इससे पहले उन्हें कोई उतना नहीं जानता था . यहाँ तक की पार्टी में भी कई लोग नहीं जानते थें. लेकिन ऐसा माना जाता है कि उन्हें राज्यसभा भेजने का मास्टर स्ट्रोक राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव का था. वे इसके जरिये जातीय और सामाजिक समीकरण साधना चाहते थें. क्योकि एडी सिंह भूमिहार जारी से आते हैं. वहीं लालू प्रसाद का इसके पीछे दुसरा गेम यह माना जाता है कि वे 2024 का लोकसभा चुनाव् में इनसे जातीय फायदा लेना चाह रहे थें. क्योकि पाटलीपुत्र सीट से उनकी बड़ी बेटी मीसा भारती चुनाव लडती हैं. लेकिन वे वहाँ से बीजेपी के उम्मीदवार रामकृपाल यादव से हार जा रही हैं. ऐसे में लालू प्रसाद यादव की नजर उनके थ्रू भूमिहार वोट को अपने पक्ष में करने की थी. क्योंकि पाटलीपुत्रा लोकसभा सीट में भूमिहार बहुल कई क्षेत्र हैं और एडी सिंह उसी क्षेत्र से हैं. साथ ही उनकी सामाज में पकड़ भी है.

जानकारी के मुताबिक राजद कोटे से राज्यसभा सांसद बनें एडी सिंह का नाम फर्टिलाइजर्स घोटाले में आ रहा था । उनकी गिरफ्तारी दिल्ली के डिफेंस कॉलोनी एरिया से की गई है। फिलहाल इस बारे मे अभी अधिक जानकारी ईडी ने नहीं दी है। मालूम हो कि अमरेन्द्र धारी सिंह एक बड़े कारोबारी हैं । वे पटना के ग्रामीण क्षेत्र दुल्हन बाजार के एनखा गाँव के रहनेवाले हैं । उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पटना ने नामी स्कूल सेंट माइकल से की । इसके बाद वे दिल्ली यूनिवर्सिटी चले गये थे । बताया जाता है कि वे अपना सारा कारोबार दिल्ली से ही करते हैं । वे रियल स्टेट के कारोबार से भी जुड़े हैं । उनका कई देशों में फर्टीलाइजर का व्यवसाय चलता है.

आपको बता दें कि इस कोरोना काल में भी बिहार की सियासत गर्म है. एक एनडीए की सहयोगी पार्टी हम पार्टी के मुखिया एवं पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने मोर्चा खोल रखा है जिससे कई राजनीतीक कयास लगाए जा रहे हैं.जबकि इस मामले में राजद और कांग्रेस की तरफ से मांझी को आने का खुला ऑफर दिया जा रहा है. कांग्रेस पार्टी के एमएलसी प्रेमचन्द्र मिश्रा ने तो यहाँ तक कह दिया कि वे पुराने कांग्रेसी रहे हैं. अगर वे कांग्रेस में आते हैं तो उनका स्वागत है.

वहीं कई बार ऐसी भी खबरे आ रही हैं कि राजद सुप्रीमों एक बार फिर से जेल से बाहर आने के बाद जोड़-तोड़ में लग गए हैं.ताकि तेजस्वी यादव के नेतृत्व में सरकार बन सकें.बात रो यहाँ तक आ रही है कि वे वीआईपी पार्टी के मुखिया मुकेश साहनी से भी लगातार सम्पर्क कर रहे हैं. राजनीतिक चर्चा तो और तब तेज हो गई जब लालू प्रसाद यादव के शादी के 49 वें सालगिरह पर मांझी ने बधाई दी. इस बात के कई कयास निकाले जाने लगें.

Leave A Reply

Your email address will not be published.