Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

DSP की पत्नी ने बनाया नाबालिग लड़की से रेप का वीडियो, पति पर FIR हुआ दर्ज  

बिहार के गया जिले से बड़ी खबर है. जहाँ एक डीएसपी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया है.यह लडकी नाबालिग और दलित है. सबसे बड़ी बात तो यह है कि नाबालिग के साथ इस रेप का वीडियो खुद उसकी पत्नी ने बनाया है.

0 353

बिहार नेशन: बिहार के गया जिले से बड़ी खबर है. जहाँ एक डीएसपी ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म किया है.यह लडकी नाबालिग और दलित है. सबसे बड़ी बात तो यह है कि नाबालिग के साथ इस रेप का वीडियो खुद उसकी पत्नी ने बनाया है. हालांकि यह मामला 3 साल पुराना है लेकिन अब डीएसपी के खिलाफ साक्ष्य मिलने पर महिला थाने में मामला दर्ज कर लिया गया है. आपको बता दें कि यह आरोप गया जिले के तत्कालीन डीएसपी कमलकान्त प्रसाद पर लगा है जिनपर में 27 मई को प्राथमिकी दर्ज की गई है.

मिली जानकारी के मुताबिक़ यह मामला 3 वर्ष पुराना है. मतलब कि 2017 वर्ष का है. उस समय पावन पर्व दशहरा था. उसी समय यह नावालिग़ युवती उनके यहाँ घर का काम करने गई थी. उसी समय DSP ने नाबालिग के साथ बलात्कार किया था. लेकिन हैरत की बात यह है कि स्वयं इस घटना का वीडियो उसकी पत्नी के द्वारा बना लिया गया था. उसकी पत्नी के अनुसार सारी करतूत इस वीडियो में कैद है. हालांकि उस समय में भी इस मामले की शिकायत एक कमजोर अधिकारी पास की गई थी. लेकिन तब से अब तक मामले की जांच रही है.

अब इस मामले में पीड़ीता भी खुलकर सामने आ गई है और उसने अपने साथ हुए रेप की पुष्टि की है. इस मामले पीड़ीता ने कहा कि वह लोक –लज्जा और डर के कारण कुछ नहीं बोल रही थी. अब रेप की पीड़ीता नाबालिग युवती बालिग़ हो गई है और मामले को दर्ज करवाई है. उसका भाई ने भी इन्साफ की गुहार लगाई है.

इस मामले में महिला थानाध्यक्ष रविरन्जना ने बताया कि यह मामला 2017 का है. इस मामले में आरोपी अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. बता दें कि इस मामले में गया के विशेष पॉक्सो जज नीरज कुमार के निर्देश पर मामला दर्ज किया गया है. मालूम हो कि बिहार में इस तरह का कोई पहला मामला नहीं है जब इस तरह के आरोप किसी अधिकारी के खिलाफ लगे हों. पहले भी कई मामले इस तरह के सामने आए हैं.

हालांकि बिहार सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा को लेकर कई कड़े कानून बना रखे हैं. राज्य सरकार ने महिलाओं को बढ़ावा देने के लिए पंचायत चुनावों में आरक्षण दे रखा है. जिसका परिणाम भी सामने है. वहीं बेटियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए भी राज्य सरकार ने मैट्रिक और इंटर पास करने पर विशेष प्रोत्साहन राशी देती है. जबकि हाल में राज्य सरकार ने महिलाओं को मेडिकल और इंजीनियरिंग में 33 प्रतिशत आरक्षण देने का भी फैसला किया है.

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

 

 

 

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.