Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बिहार: आखिरकार CM मांझी के भोज में पहुंचे ब्राह्मण, लेकिन इन शर्तों के कारण कम पहुंचे लोग 

0 295

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: अपने बेबाक बयानों से हमेशा चर्चा में रहनेवाले पूर्व सीएम एवं हम पार्टी के सुप्रीमों जीतन राम  मांझी ने सोमवार को पटना में ब्राह्मणों को भोज दिया । उन्होंने पिछले दिनों ब्राह्मणों को लेकर आपत्तिजनक बयान दिया था। जिसके बाद से ही बिहार में यह मुद्दा गर्म है। लेकिन आपको बता दें कि इस भोज में ब्राह्मणों को आमंत्रित करते हुए मांझी ने शर्त रखी थी कि केवल वही ब्राह्मण इस भोज के लिए आ सकते हैं जिन्होंने कभी मांस और मदिरा का सेवन नहीं किया हो या फिर कभी चोरी डकैती में शामिल ना रहा हो।

मांझी की इस शर्त को भी अपमान समझते हुए कई ब्राह्मण संगठनों ने इस भोज का बहिष्कार किया, हालांकि, तकरीबन दो दर्जन ब्राह्मण इस भोज में शामिल हुए जिन्हें मांझी ने खुद अपने हाथ से चूड़ा-दही, तिलकुट, गुड़ और सब्जी परोसा।

इस भोज में शामिल हुए ब्राह्मणों ने कहा कि जीतन राम मांझी ने जो उनके समाज को गाली दी थी उसके लिए उन लोगों ने उन्हें माफ कर दिया है और इसीलिए उनके भोज में शामिल हुए हैं। ब्राह्मणों ने कहा कि जब मांझी ने अपशब्दों के लिए माफी मांग ली थी तो उनके दिल में कोई गिला शिकवा नहीं रहा।

हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रवक्ता दानिश रिजवान ने कहा कि मांझी के भोज में शामिल होकर ब्राह्मणों ने संदेश दे दिया है कि ब्राह्मण और दलित समाज एक हैं और मांझी कभी भी समाज में बंटवारा नहीं कर सकते हैं।

आपको बता दें कि ब्राह्मणों को लेकर पूर्व सीएम मांझी ने आपत्तिजनक बयान दिया था। इसके बाद से ही उनकी तीखी आलोचना विभिन्न संगठनों के नेताओं और राजनीतिक पार्टियों के नेताओं द्वारा किया जा रहा है। वहीं मांझी के खिलाफ श्री राम सेना और ब्राह्मण एकता मंच ने उनके आवास के बाहर उग्र प्रदर्शन भी किया था।उसके बाद मांझी ने भी शर्तों के साथ ब्राह्मणों को भोज पर आमंत्रित किया ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.