Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

बिहार: दारोगा और सार्जेंट भर्ती परीक्षा में इस बार के प्रश्न ज्यादा कठिन और घुमावदार थे, इतना कटऑफ की है उम्मीद

0 257

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: रविवार को हुई बिहार में दारोगा और सार्जेंट भर्ती परीक्षा के लिए 57 केंद्र बनाए गये थे। वहीं 34 हजार 52 परीक्षार्थियों को इस परीक्षा में शामिल होना था। लेकिन कुछ परीक्षार्थी नहीं शामिल हो सकें । वहीं अगर हम बात करें प्रारंभिक परीक्षा के आधार पर प्राप्त अंकों की तो जितनी रिक्तियां हैं उससे 20 गुणा अधिक सफल अभ्यर्थियों का चयन आरक्षण कोटिवार होगा।

परीक्षा विशेषज्ञ गुरु डॉ एम रहमान ने बताया कि अब तक जितने भी दारोगा के परीक्षा हुई है, उसके मुकाबले इस बार के प्रश्न ज्यादा कठिन थे। अगर कहा जाये तो प्रश्न कांसेप्ट पर ज्यादा आधारित थे। फैक्ट पर कम प्रश्न पूछे गये थे। इस बार कट ऑफ पर इसका असर दिख सकता है। सामान्य का कट ऑफ 65-68 के बीच रह सकता है। हालांकि ये एक अनुमान ही है।

इतिहास, भूगोल, राजव्यवस्था, विज्ञान आदि से प्रश्न पूछे जाने की परंपरा रही है, लेकिन इस बार समाजशास्त्र तथा विश्व इतिहास से भी प्रश्न पूछे गये थे। अगर समसामयिकी की बात की जाये तो 2019 तथा 2020 से भी प्रश्न पूछे गये थे। प्रश्न घुमावदार थे, जिस पर ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत थी। जिन छात्र-छात्राओं ने एनसीआरटी टेक्स्ट बुक आदि का अध्ययन किया होगा निश्चित रूप से उसकी परीक्षा अच्छी गयी होगी।

डॉ रहमान ने बताया कि एक प्रश्न के लिए दो अंक दिये जाने का प्रावधान है। इस परीक्षा में गलत उत्तर दिये जाने पर 0.25 अंक काटे जाने का प्रावधान है। इस बार का कटऑफ जनरल 65-68, ओबीसी 62-65, इबीसी 59-62, एससी 52-54, एसटी 53-55, इडब्ल्यूएस 60- 62 तथा महिला का कटऑफ 40 से 45 जाने का अनुमान है।

मालूम हो कि डॉ.रहमान पटना में कई प्रकार की प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करवाते हैं । उनके संस्थान से कई छात्र प्रत्येक वर्ष परीक्षाओं में सफल होते हैं । वहीं पटना में गरीबों को रहमान सर निःशुल्क शिक्षा भी देते हैं ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.