Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

एक्सक्लूसिव रिपोर्ट: बिहार त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में EVM में काले, हरे , नीले एवं लाल रंग में होंगे उम्मीदवारों के नाम

0 84

 

जे.पी.चन्द्रा की एक्सक्लूसिव रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार में पहली बार ईवीएम से पंचायत चुनाव कराये जा रहे हैं । इसके लिये सभी तैयारियां भी पुरी हो चुकी हैं ।साथ ही नामांकन का दौर भी जारी है। वहीं 24 सितंबर को पहले चरण का मतदान भी कराये जाएंगे ।

लेकिन सबसे बड़ी समस्या ईवीएम वोटिंग को लेकर है। क्योंकि बिहार में अभी भी निरक्षर लोगों की संख्या अधिक है। ऐसे में सवाल यह उठता है की जो व्यक्ति अनपढ़ हैं वे ईवीएम की वोटिंग कैसे करेंगे ।

एरकी कला,मुखिया प्रत्याशी
एरकी कला, मुखिया प्रत्याशी

तो वैसे लोगों के लिये भी राज्य निर्वाचन आयोग के द्वारा इस पंचायत चुनाव में विशेष ध्यान रखा गया है। इस बार ईवीएम पर प्रत्याशियों के नाम, पद विभिन्न रंग के होगें। मुखिया के लिए हरा, जिला परिषद के लिए लाल, वार्ड सदस्यों के लिए काला और पंचायत समिति सदस्य के लिए नीला रंग होगा।

घटराईन पंचायत- सरपंच पद के उम्मीदवार

ऐसा करने से निरक्षर मतदाताओं को अपने मनपसंद प्रत्याशियों को खोजने मे सहूलियत होगी। पहले ईवीएम पर ब्लैक एंड व्हाइट नाम अंकित होते थे। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की प्रशासनिक तैयारी जोरों पर है। ऐसे में इस बार राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाताओं की सहूलियत के लिए कई तरह के नए नए दिशा निर्देश जारी किए हैं। इस बार ईवीएम पर इस्तेमाल होने वाले बैलेट पेपर की छपाई कलर में होंगे।  सफेद कागज पर काले रंग से ग्राम पंचायत सदस्य का नाम प्रिंट रहेगा।

इसी तरह से मुखिया पद के उम्मीदवार का नाम सफेद कागज पर हरे रंग का, पंचायत समिति प्रत्याशियों की पहचान मतदाता सफेद कागज पर नीले रंग और वार्ड सदस्यों के प्रत्याशियों की पहचान सफेद रंग की कागज पर काले रंग से दर्ज होगी।  इसके अलावा जिला परिषद सदस्य के लिए सफेद कागज पर लाल स्याही से दर्ज रहेगा।

उतरी उमगा, मुखिया प्रत्याशी

आयोग की जानकारी के अनुसार इस पहल से मतदाताओं को अलग-अलग प्रत्याशियों की पहचान में सहूलियत होगी।  प्रत्याशियों की क्रम संख्या और नाम ईवीएम के बाईं तरफ जबकि चुनाव चिन्ह दाएं तरफ होगा। इसके लिए ईवीएम में उपयोग आने वाले बैलेट पेपर टेंडर मतपत्र की छपाई स्थानीय स्तर पर कराई जाएगी।  वहीं दिव्यांग मतदाताओं के लिए केंद्रो पर रैप की व्यवस्था की जाएगी। ऐसे मतदाताओं के लिए एक सहयोगी की भी व्यवस्था की जाएगी।

आपको बताएं कि पंचायत चुनाव के लिए 24 सितंबर, 29 सितंबर, 8 अक्टूबर, 20 अक्टूबर, 24 अक्टूबर, 3 नवंबर, 15 नवंबर, 24 नवंबर, 29 नवंबर, 8 दिसंबर और 12 दिसंबर को मतदान होगा।

रेशमी देवी,मनिका (मुखिया प्रत्याशी)

चुनाव आयोग ने बताया कि मुखिया के 8072 पद, ग्राम पंचायत सदस्य के 113307 पद, पंचायत समिति सदस्य के 11104 पद, जिला परिषद सदस्य के 1160, ग्राम कचहरी सरपंच के लिए 8072 और पंच के लिए 113307 पदों पर चुनाव होंगे। कुल 255022 पदों के लिए वोट डाले जाएंगे।

वहीं 24 सितंबर पहले चरण के मतदान के बाद प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम मतपेटिका में कैद हो जाएगा। 26 और 27 सितंबर को मतगणना कराई जाएगी। साथ ही आपको बता दें कि पहले चरण में कुल 15328 प्रत्याशियों ने विभिन्न पदों के लिए नामांकन पत्र दाखिल किया है। 858 पदों पर प्रत्याशियों का निर्विरोध निर्वाचन हो गया है। 72 पदों पर किसी भी प्रत्याशी ने नामांकन पत्र दाखिल नहीं  किया ।

आपको बता दें की  इस बार सभी पदों के चुनाव ईवीएम से नहीं कराये जा रहे हैं बल्कि राज्य निर्वाचन आयोग के मुताबिक केवल चार पदों के चुनाव ईवीएम से कराये जाएंगे । जिसमें मुखिया , ग्राम पंचायत सदस्य,  पंचायत समिति , जिला परिषद् के चुनाव शामिल है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.