Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

प्रसिद्ध समाजसेवी प्रमोद सिंह एवं विधायक नेहालुद्दीन ने जहरीली शराब से मौत के लिए प्रशासन को ठहराया जिम्मेवार

0 276

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: बिहार के औरंगाबाद जिले के मदनपुर थाना अंतर्गत रानीगंज और सिंदूआरा गांव में हुई तीन लोगों की मौत को लेकर जनप्रतिनिधियों और लोगों का गुस्सा चरम पर है। रविवार को रफीगंज विधानसभा क्षेत्र से निर्दलीय प्रत्याशी रहे प्रमोद कुमार सिंह ने गांव का दौरा किया । उन्होंने मृतक के परिजनों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने सीएम नीतीश और प्रशासन पर जोरदार निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि बिहार में केवल नाम की शराब बंदी है। जबकि यह आसानी से सभी जगह उपलब्ध है। उन्होंने कहा कि यहाँ जहरीली शराब पीने से लोगों की मौत हुई है और सरकार के अधिकारियों द्वारा मामले की लीपापोती की जा रही है। साथ स्वयं बचने के लिए अपनी उपाय ढूंढ रहे हैं । शराब बंदी की आड़ में इसका अवैध व्यापार धड़ल्ले से जारी है। कानून के रखवाले ही इसे संरक्षण दे रहे हैं ।

बिहार नेशन

उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि क्या ऐसा हो सकता है कि प्रशासन चाह जाए और शराब नहीं रूके। उन्होंने मदनपुर प्रशासन पर भी आरोप लगाते हुए कहा कि सभी केवल मिलीभगत से पैसा कमाने में लगे रहते हैं। जनता के सरोकार से किसी को कोई मतलब नहीं है। इस थाने में कोई भी अधिकारी स्थायी रूप से क्यों नहीं टीक पाता है। वह क्यों सस्पेंड हो जाता है? उन्होंने इस मामले में दोषियों पर कड़ी कारवाई की मांग की। साथ ही मृतक के परिजनों को उचित मुआवजा देने की मांग जिला प्रशासन से की ।

वहीं रफीगंज विधानसभा के वर्तमान विधायक मो. नेहालुद्दीन ने भी इस मौत पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने भी इसके लिए प्रशासन को जिम्मेवार ठहराया है। उन्होंने कहा कि थाने के प्रशासन को सबकुछ पता है। कि कहां शराब मिल रहा है। लेकिन कारवाई नहीं की जाती है। शराबबंदी कानून खोखला साबित हो रहा है। उन्होंने दोषियों पर कड़ी कारवाई की मांग करते हुए मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की।

आपको बता दें कि रविवार को मदनपुर प्रखंड अंतर्गत रानीगंज और सिंदूआरा गांव में उस समय कोहराम
मच गया जब जहरीली शराब पीने से तीन लोगों की मौत हो गई । मृतक में कृष्ना रविदास पिता स्व . राजेन्द्र दास निवासी रानीगंज ,पिंटू चन्द्रवंशी पिता सुदामा चन्द्रवंशी निवासी सिंदुआरा और संजय रविदास पिता धनेश्वर राम हैं । जो कि झारखंड के फुसरो के रहने वाले है । सभी लोगो की मौत जहरीली शराब के सेवन से हुई है। इन सभी की मौत ने एक बार फिर से बिहार में शराब बंदी की पोल खोलकर रख दी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.