Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

मदनपुर प्रखंड के छालीदोहर में DM और SP ने पठन-पाठन सामग्री वितरण कर बच्चों को किया जागरूक

0 156

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: औरंगाबाद जिले के मदनपुर प्रखंड अंतर्गत अति नक्सल प्रभावित क्षेत्र छालीदोहर के मध्य विद्यालय में काफी चहल-पहल देखने को मिला। यहाँ शनिवार को जिला प्रशासन द्वारा स्वास्थ्य जांच शिविर आयोजित की गई । जिला पुलिस के सौजन्य से मुफ्त स्वास्थ्य जांच, दवा, खेल एवं पठन पाठय सामग्री वितरण के लिए शिविर लगाया गया।

डीएम सौरभ जोरवाल एवं एसपी कांतेश कुमार मिश्र ने छह से 10 वर्ष तक के छात्र-छात्राओं के बीच पाठ्य पुस्तक का वितरण किया। बच्चों को कॉपी, कलम, पेंसिल, कट्टर एवं रबर दिया गया। इसके अलावा छालीदोहर, कनौदी, सियारी, सहजपुर, नीमीडीह, कोइलवां, आजाद बिगहा, चरैया सहित कई अन्य गांव के बच्चों के बीच एक दर्जन फुटबाल बांटा गया।

डीएम ने बताया कि नक्सल क्षेत्र के बच्चों को शिक्षा के प्रति जागरूक करने के लिए यह कार्यक्रम आयोजित की गई है। बच्चे नियमित विद्यालय जाएंगे तो बेहतर अधिकारी बन देश की सेवा करेंगे। मध्य विद्यालय के अ‌र्द्धनिर्मित उत्क्रमित उच्च विद्यालय भवन के बनाने की मांग पर डीएम ने कहा कि भवन का निर्माण कराया जाएगा। इसे उच्च शिक्षा व्यवस्था मजबूत होगी। एसपी ने बताया कि जंगलतटीय क्षेत्र के बच्चों के बीच शिक्षा की अलख जगाने एवं पुलिस पब्लिक समन्वय स्थापित करने के लिए इस तरह के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं।

एसपी ने बच्चों से पढ़कर समाज की मुख्य धारा में शामिल होकर देश सेवा में आगे आने के लिए प्रेरित किया। किताब, कॉपी, कलम पेंसिल एवं फुटबाल लेकर बच्चे उत्साहित दिखे। एसपी ने कहा कि शिक्षा के विकास से ही ग्रामीण इलाकों में बदलाव दिखेगा। बच्चे पढ़ने चाहते हैं और प्रशासन इन बच्चों को स्कूल में दाखिला कराने से लेकर पढ़ाई पर विशेष ध्यान देगी। इस मौके पर बीडीओ कुमुद रंजन, पुलिस इंस्पेक्टर विजय सिंह, थानाध्यक्ष संजय कुमार, शिवराम हेम्ब्रम, सहित कई गणमान्य लोग उपस्थित रहे ।

मालूम हो कि मदनपुर प्रखंड अंतर्गत यह क्षेत्र काफी पिछड़ा हुआ है। यहाँ कई बुनियादी सुविधाओं की कमी है। साथ ही यह क्षेत्र नक्सली प्रभावित क्षेत्र माना जाता है। कई बार इस क्षेत्र के जंगलों में कोबरा पुलिस और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हो चुकी है। यही कारण है कि जिले के पदाधिकारी एवं अधिकारी इस क्षेत्र के लोगों पर ध्यान देकर उन्हें मुख्य धारा में अधिक से अधिक जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं । उसेर दिशा में यह कदम माना जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.