Bihar Nation
सबसे पहेले सबसे तेज़, बिहार नेशन न्यूज़

Mobile Sim Card Rule : अब इतने से अधिक मोबाइल सिम कार्ड नहीं रख सकेंगे उपभोक्ता, सरकार ने तय की लिमिट  

0 182

 

जे.पी.चन्द्रा की रिपोर्ट

बिहार नेशन: कई सारे लोग मोबाइल सिम कार्ड का प्रयोग अधिक संख्या में करते हैं । मतलब एक व्यक्ति कई सिम कार्ड रखते हैं । अगर आप भी कई सिम कार्ड रखे हैं तो आपके लिए यह काम की खबर है। सरकार ने अब यह तय कर दिया है कि एक व्यक्ति कितनी सिम कार्ड रखेगा । यही कारण है कि मौजूदा सभी सिम कार्ड का नए सिरे से वेरिफिकेशन किया जा रहा है। खबर तो ये है कि दूरसंचार विभाग यानी डॉट ने सभी टेलीकाम कंपनियों से देश में नौ से ज्यादा मोबाइल कनेक्शन रखने वाले ग्राहकों का फिर से सत्‍यापन करने को कहा है।

वहीं केवाईसी होने के बाद इस बात का पता आसानी से लगाया जा सकता है कि किस व्यक्ति के नाम किन-किन कंपनियों के कितने सिम हैं। डॉट ने अपने आदेश में कहा है कि जो सिम वेरिफाई नहीं होंगे उन्हें बंद कर दिया जाएगा। जम्मू और कश्मीर, उत्तर-पूर्व और असम में छह से ज्यादा कनेक्शन रखने वाले ग्राहकों के सिम को वेरिफाई किया जाएगा।

दरअसल इस जांच-पड़ताल के दौरान ग्राहकों को यह विकल्प मिलेगा कि वह किस कनेक्शन को जारी रखना चाहते हैं, और किसे बंद कराना चाहते हैं। अगर ग्राहक वेरिफिकेशन के दौरान कोई कनेक्शन सरेंडर करता है तो उसे काट दिया जाएगा। लेकिन अगर ग्राहक वेरिफिकेशन के लिए नहीं आता है तो 60 दिन के अंदर उस कनेक्शन को काट दिया जाएगा। इस अवधि की गणना सात दिसम्बर से शुरू हो गई है।

मोबाइल

बता दें, जियो के दूरसंचार क्षेत्र में उतरने के बाद टेलीकॉम कंपनियों ने जमकर सिम बांटे और बड़े-बड़े ऑफर दिए थे। खुफिया एजेंसियों की जांच में खुलासा हुआ है कि कुछ गिरोह संगठित होकर दूरसंचार सेवाओं का दुरुपयोग कर रहे हैं। वहीं, सरकार ने वित्तीय अपराध, ऑटोमेटेड कॉल और धोखाधड़ी की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए यह कदम उठाया है।

मोबाइल

सबसे बड़ी बात की इस तरह से सिम कार्ड बांटने का अनगिनत सिलसिला तब शुरू हुआ जब जियो नेटवर्क कंपनी ने दूरसंचार के क्षेत्र में कदम रखा । जियो ने कुछ ही दिनों में इतने अधिक कस्टमर बना लिये कि अन्य कंपनियों में भी इसे लेकर होड़ मच गई । फिर तो कई अन्य कंपनियों ने नये-नये ऑफर के साथ अपने सिम बेचने शुरू कर दिया । नतीजा यह हुआ कि लोग इसे ऑफर तक खरीदते और फिर ऑफर खत्म होने के बाद नये सिम खरीदते । इन्हीं सब बातों के कारण सरकार  टेलीकॉम कंपनियों पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.